21 जनवरी के बाद ऐसा क्या हुआ जिससे याद आने लगी दूसरी लहर की तस्वीरें? कोरोना में 3000 लोगों की अचानक कैसे हुई मौत?

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज़: कोरोना संक्रणम एक बार फिर से विकराल रूप धारण कर रहा है। भले ही नए संक्रमितों की संख्या कम हो रही हो, लेकिन बीते एक सप्ताह से एक भी दिन मरने वालों की संख्या में कमी नहीं आई है। आंकड़ों को देखें तो दो दिनों(01 व 02 फरवरी) को कोरोना करीब तीन हजार लोगों की जिंदगी को लील गया। इन दो दिनों में 2925 मौतें दर्ज की गईं। एक फरवरी को जहां 1192 लोगों की मौत हुई थी, तो आज(बुधवार) को 1733 लोगों की सांसे रुक गईं।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों को देखें तो 10 दिनों में सिर्फ एक या दो दिन ऐसे रहे जब दैनिक मृत्यु दर में कमी आई। 21 जनवरी को 488 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी। जबकि, 22 जनवरी को 525 लोगों की सांसे रुक गईं। इसके बाद से मौतों की संख्या में मामूली गिरावट के बाद उछाल देखा गया। 25 जनवरी के बाद से तो इसमें बिल्कुल भी गिरावट दर्ज नहीं की गई। 

एक दिन में 541 ज्यादा मौतें
कोरोना की दूसरी लहर में हर दिन मौतों का आंकड़ा रिकॉर्ड तोड़ रहा था। ऐसी ही तस्वीर अब दिखाई पड़ रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मंगलवार के मुकाबले सोमवार को 541 ज्यादा मौतें हुईं और एक दिन का आंकड़ा 1733 पहुंच गया। तीसरी लहर में यह अब तक की सबसे ज्यादा होने वाली मौतें हैं। 

केरल ने जोड़ी थीं पुरानी मौतें
केरल कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों में लगातार सुधार कर रहा है। 31 जनवरी को केरल ने पिछले आंकड़े जोड़कर 374 लोगों की मौतों की पुष्टि की थी, जिसके बाद 31 जनवरी को एक दिन में देश में मृतकों की संख्या बढ़कर 959 पहुंच गई थी।  

दिन के आंकड़े   मौतें
02 फरवरी  1733
01 फरवरी      1192
31 जनवरी  959
30 जनवरी  891
29 जनवरी    871
28 जनवरी  627
27 जनवरी    573
26 जनवरी     665
25 जनवरी   614
24 जनवरी  439
23 जनवरी  525
22 जनवरी  488
कुल कुल 9577 मौतें
खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें