Valley Of Flowers :-प्रकृति प्रेमियों के लिए खास तोहफा, सुहावने मौसम में बनाये ‘Valley Of Flowers’ घूमने का प्लान,जाने पूरी जानकारी

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Valley Of Flowers :- प्रकृति प्रेमियों के लिए खास तोहफा, सुहावने मौसम में बनाये ‘Valley Of Flowers’ घूमने का प्लान,जाने पूरी जानकारी

Valley Of Flowers Ghumne Ka Bnaye Plan :- भारत दुनिया भर में अपने खूबसूरत प्राकृतिक दृश्यों के लिए जाना जाता है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत में कई ऐसी जगहें हैं, जिनके नजारे आपके मन को मोह लेंगे। फूलों की घाटी भी इन्हीं में से एक है, यह खूबसूरत जगह उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित है। वर्ष 1982 में विश्व संगठन यूनेस्को द्वारा इस घाटी को विश्व धरोहर घोषित किया गया था। इस स्थान को स्थानीय लोग देवता के निवास के रूप में भी जानते हैं।1 जून से वर्ल्ड हेरिटेज साइट कही जाने वाली ‘फूलों की घाटी’ 1 जून से खुल गई है। ऐसे में आप यहां छुट्टियां मनाने जा सकते हैं।

इस खूबसूरत फूलों की घाटी में दुनिया के दुर्लभ वन्यजीव, फूल, जड़ी-बूटियां और पक्षी पाए जाते हैं। जिससे यहां के प्राकृतिक नजारे सभी का मन मोह लेते हैं। फूलों की इस घाटी को 1 जून से यात्रियों के लिए खोल दिया गया है, जहां आप खूबसूरत नजारों का लुत्फ उठा सकते हैं। तो देर किस बात की आइए जानते हैं इस जगह से जुड़ी खास बातों के बारे में-

Valley Of Flowers: महकने लगी है फूलों की घाटी, 1 जून से सैलानी कर सकते हैं  दीदार,कैसे जायें और कितना है प्रवेश शुल्क यहाँ देखें - Devbhoomisamvad.com

यह घाटी नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान का हिस्सा This valley is part of Nanda Devi National Park :– फूलों की घाटी लगभग 87.50 किमी के क्षेत्र में फैली हुई है। जो करीब 2 किलो चौड़ा और 8 किमी लंबा है। यह खूबसूरत घाटी (पार्वती घाटी) समुद्र तल से 3352 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। आपको बता दें कि यह खूबसूरत घाटी नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान का हिस्सा है। ऐसा माना जाता है कि रामायण काल ​​में भगवान हनुमान ने यहीं से संजीवनी बूटी ली थी।

फूलों की यह घाटी रंग बदलती this valley of flowers changes color :- स्थानीय लोग हमेशा इस घाटी को देखते हैं। ऐसे में उनका मानना ​​है कि इस घाटी को भगवान और परियों ने तैयार किया है. इतना ही नहीं, फूलों की यह घाटी किसी जादुई नजारे से कम नहीं है, ऐसा माना जाता है कि यह हर 2 हफ्ते में अपना रंग बदलती है। कभी लाल, कभी पीली तो कभी नीली रंग की यह घाटी हर पर्यटक को अपनी ओर आकर्षित करती है। फूलों की 500 से अधिक प्रजातियां यहां पाई जाती हैं, जिनमें एनीमोन, जर्मनिया, मार्श, मैरीगोल्ड, प्रिमुला, पोटेंटिला, तारक और सौसुरिया शामिल हैं।

घाटी खुलने का समय canyon opening hours
फूलों की घाटी :- 
फूलों की घाटी जून से अक्टूबर तक गर्मी के मौसम में ही खोली जाती है। बाकी महीनों में घाटी बर्फ से भरी रहती है। ऐसे में घूमने के लिए यह 5 महीने सबसे सही समय है।

कैसे पहुंचा जाये फूलों की घाटी How To Reach Valley Of Flowers
दिल्ली शहर से फूलों की घाटी तक पहुंचने के लिए आपको इस मार्ग का अनुसरण करना होगा। इसके लिए आप दिल्ली से हरिद्वार, हरिद्वार से ऋषिकेश, ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग, रुद्रप्रयाग से जोशीमठ, जोशी से गोविंदघाट सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं। इसके बाद आपको गोविंदघाट से घांघरिया और घांघरिया से फूलों की घाटी तक का ट्रेकिंग सफर तय करना होगा। इसके अलावा आप चाहें तो हेलिकॉप्टर से भी इस घाटी के खूबसूरत नजारों का मजा ले सकते हैं।

प्रवेश शुल्क entrance fees
Indian Tourist: Rs 150
Children per person: Rs 75
Foreign Tourist: Rs 600 per person
rate of dandi-kandi labor fixed

Salman Khan –सलमान खान को दबंगई पड़ी महंगी, जब पुलिस ने कारागृह में बंद…

Tata SUV – Tata SUV का शानदार लुक, दिखने में खूबसूरत और लाजवाब फीचर्स ,देखे

Sonakshi Sinha – सोनाक्षी सिन्हा ने बिना किसी को बताए सगाई कर ली, दूसरी तरफ बेचारे सलमान खान चाहकर भी शादी नहीं कर सकते, जानिये क्या थी वजह

Sapna Choudhary Dance: सपना चौधरी ने ऐसे मटकायी कमर कि फैंस के दिलों की धड़कन हुई तेज, देखिये वीडियो

Mukesh Ambani: मुकेश अंबानी ने चुना करोड़ों की दौलत का वारिस, सबके सामने ऐलान, सामने आई बड़ी खबर

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *