Types of Web Hosting in Hindi-वेब होस्टिंग के प्रकार,Best Web Hosting

google photo

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Web hosting बहुत से प्रकार का होता है, लेकिन आज के वक़्त मे जो सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है हम सिर्फ़ उन्ही के बारे मे जानेगे. तो मूल रूप से web hosting 3 प्रकार के होते हैं. यहाँ से आप Hostgator से होस्टिंग कैसे खरीदें पढ़ सकते हो.

1) Shared web hosting
2) VPS (Virtual Private Server)
3) Dedicated hosting
4) Cloud Web Hosting

यह भी पढ़े-यहां से खरीदें Hero Splendor Plus मात्र 33 हजार में

Shared Web Hosting

Shared web hosting में एक ही server होता है जहाँ हजारों websites के files एक साथ एक ही server computer में store हो कर रहता हैं इसलिए इस hosting का नाम shared रखा गया है.

Shared web hosting उन लोगों के लिए सही है जिन्होंने अपना website नया नया बनाया हो क्यूंकि ये hosting सबसे सस्ती होती है. इस hosting से आपको तब तक मुसीबत नहीं झेलनी पड़ेगी जब तक आपका website मसहुर न हो जाये और जब आपके websites में visitor बढ़ने लगेंगे तो आप अपना hosting change भी कर सकते हैं. जै

सा की ये shared web server है अगर कोई website बहुत व्यस्त हो जाये तो बाकि सारे website उसके कारण धीमें हो जायेंगे और उनके page को खुलने में वक़्त लग जायेगा, ये इस web hosting का सबसे बड़ा demerit है. Shared hosting का इस्तेमाल ज्यादा तर नए bloggers ही करते हैं. इसमें बहुत सारे users एक ही system का CPU, RAM इस्तिमाल करते है.

Shared Hosting के फायेदे

  • ये hosting का इस्तमाल और setup करना बहुत ही आसान है.
  • Basic Websites के लिए ये बढ़िया option है.
  • इसकी कीमत बहुत कम होती है इसलिए इसे सभी खरीद सकते हैं.
  • इसकी control panel बहुत ही user friendly होती है.

Shared Hosting नुकसान

  • इसमें आपको बहुत ही limited resources access करने को मिलेंगी.
  • चूँकि आप इसमें server को दूसरों के साथ share करते हैं इसलिए इसकी performance में थोडा ऊपर निचे होने की संभावनाएं होती है.
  • इसकी security उतनी बेहतर नहीं होती है.
  • प्राय सभी companies इसमें ज्यादा support प्रदान नहीं करती हैं.

यह भी पढ़े-Monalisa के साथ Nirahua हुए रोमांटिक, बेडरूम में कर दिया पलंग तोड़ डांस, viral हुआ video

VPS Hosting

VPS hosting एक hotel के रूम की तरह होता है. जहाँ उस room के सारे चीजों पर बस आपका हक रहता है. इसमें और किसीका भी शेयरिंग नहिं होता. VPS hosting में visualization technology का प्रोयाग किया जाता है. ज्सिमे एक strong और secure server को virtually अलग अलग हिस्सों में divide कर दिया जाता है.

पर हर एक virtual server केलिए अलग अलग resource use किया जाता है. जिससे आपके website को जितना resource की जरुरत होता है वो उतना use कर सकता है. यहाँ आपको दुशरे किसी website के साथ share करना नहिं पड़ता और आपके website को best security और performance मिलता है.

ये hosting थोडा costly है और ज्यादा visitor वाले website इस्तिमाल करते हैं. अगर आपको कम पैसो में dedicated server जैसे performance चाहिए तो आपके लिए VPS best है.

यह भी पढ़े-Indian Army Day 2022: भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर फहराया जाएगा दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज

VPS Hosting के फायेदे

  • इस Hosting में सबसे बेहतर performance प्रदान करी जाती है.
  • इसमें एक dedicated hosting के तरह ही आपको full control मिलती है.
  • इसमें आपको ज्यादा flexibility मिलती है क्यूंकि आप इसे अपने तरीके से customize कर सकते हैं और memory upgrades, bandwidth जैसे बदल सकते हैं .
  • Dedicated Hosting के तुलना में ये ज्यादा कीमती नहीं है जिसके चलते इसे कोई भी खरीद सकता है जिनकी traffic ज्यादा हो.
  • इसकी privacy और security बहुत ही बेहतर होती है.
  • इसके अलावा इसमें आपको अच्छा support प्रदान किया जाता है.

VPS Hosting के नुकसान

  • इसमें आपको dedicated hosting के तुलना में कम resources प्रदान किया जाता है.
  • इसे इस्तमाल करने के लिए आपके पास technical knowledge का होना आवश्यक है.

Dedicated Hosting

जीस तरह shared hosting में बहुत से website एक ही server का जगह share करते हैं dedicated hosting उसका पूरा ही उल्टा है. इसका उधारण ठीक वैसा ही है जैसे एक व्यक्ति का अपना एक बड़ा सा घर होता है और उसमे किसी और को रहने के लिए इज़ाज़त नहीं होती और उस घर की सारी ज़िम्मेदारी केवल उस व्यक्ति की होती है, dedicated hosting का काम भी कुछ ऐसा ही है.

Dedicated hosting में जो server होता है वो सिर्फ और सिर्फ एक ही website का files store करके रखता है और ये सबसे तेज server होता है. इसमें sharing नहीं होता है. और ये hosting सबसे मेहेंगी होती है क्यूंकि इसका पूरा किराया केवल एक ही व्यक्ति को भरना पड़ता है.

जिनकी website पर हर महीने ज्यादा visitor आते हैं ये hosting सिर्फ उनके लिए ही सही है. और उनके लिए भी जो अपने website से ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं. बहुत सारे e-commerce site जैसे Flipkart, Amazon, Snapdeal dedicated hosting ही इस्तेमाल करते हैं.

Dedicated Hosting के नुकसान

  • ये सभी hosting के तुलना में महंगा होता है.
  • इसे control करने के लिए आपके पास technical knowledge का होना आवश्यक होता है.
  • यहाँ पर आप अपने problems को खुद solve नहीं कर सकते जिसके चलते आपको technicians को hire करना होता है.

Cloud Web Hosting

Cloud webhosting एक ऐसा प्रकार का hosting है जो की दुसरे clustered servers के resources का इस्तमाल करते हैं. Basically, इसका मतलब ये हैं की आपकी website दुसरे servers के virtual resources का इस्तमाल करती है जिससे ये आपके hosting के सभी aspects को पूर्ण करती है.

यहाँ पर load को balance किया जाता है, security का ख़ास ध्यान रखा जाता है और इसमें सारे hardware resources virtually available होते हैं जिससे की इसे कभी भी और कहीं प्र भी इस्तमाल किया जा सकता है. यहाँ पर cluster of servers को ही cloud कहते हैं.

यह भी पढ़े- VPS Hosting क्या है,इसको कैसे सस्ते में क्या है,इसको कैसे सस्ते में ख़रीदे

Cloud Hosting के फायेदे

  • यहाँ पर Server down होने के chances बहुत ही कम होते हैं क्यूंकि सभी चीज़ें cloud में उपलब्ध होती है.
  • यहाँ पर बड़े high traffic को भी आसानी से handle किया जा सकता है.

Cloud Hosting के नुकसान

  • यहाँ पर root access की सुविधा प्रदान नहीं की जाती है.
  • बाकियों की तुलना में ये hosting थोडा ज्यादा महंगा होता है.
खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *