Tuesday, February 7, 2023
Homeमध्यप्रदेशपड़री में प्रताड़ना से तंग आकर नवविवाहिता ने की खुदकुशी, जांच के...

पड़री में प्रताड़ना से तंग आकर नवविवाहिता ने की खुदकुशी, जांच के बाद अब पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार लंबे समय से फरार स्थाई वारंटी भी पकड़ाया।

पड़री में प्रताड़ना से तंग आकर नवविवाहिता ने की खुदकुशी, जांच के बाद अब पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार लंबे समय से फरार स्थाई वारंटी भी पकड़ाया

अनोकी आवाज के साथ सचाई दिखाना।📄🖋️

M.K.S.की खास रिपोर्ट।

जिला सिंगरौली में बीते माह मोरवा थाना क्षेत्र के गोरबी चौकी अंतर्गत ग्राम पड़री निवासी एक नवविवाहिता के आत्महत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है।

अनुविभागीय अधिकारी राजीव पाठक द्वारा की गई जांच में यह बात सामने आई है उसके पति द्वारा लगातार मारपीट की जाती थी, जिससे तंग आकर महिला ने अपनी जान दे दी। पुलिस ने इस मामले में आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं थाना क्षेत्र एक अन्य

मामले में भी 7 वर्षों से फरार चल रहे स्थाई वारंटी को पुलिस ने धर दबोचा है। मोरवा पुलिस ने दोनों आरोपियों को आज न्यायालय में पेश किया।

जानकारी अनुसार बीते एक पखवाड़े पूर्व गोरबी चौकी के ग्राम पड़री के पोखरा तालाब कुएं में सविता साकेत का शव बरामद हुआ था। स्थानीय लोगों के अनुसार उसने आत्महत्या की थी। आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया था। परंतु अनुविभागीय अधिकारी को इस मामले में घरेलू हिंसा का शक था जिस कारण उन्होंने

महिला द्वारा की गई आत्महत्या की जांच शुरू की। जांच के दौरान यह बात सामने आई थी उसके पति धर्मावतार साकेत द्वारा लगातार सविता साकेत के साथ मारपीट की जाती थी और अंततः प्रताड़ना से थककर उसने

आत्महत्या कर ली। इस मामले में अपराध क्रमांक 45/22 धारा 306 भादवी के तहत आरोपी धर्मावतार साकेत पिता छोटेलाल साकेत उम्र 29 वर्ष निवासी पडरी चौकी गोरबी को उपनिरीक्षक सुधाकर सिंह परिहार, सहायक उपनिरीक्षक राजकुमार दुबे आरक्षक त्रिवेणी तिवारी, मोहम्मद कौसर द्वारा आज गिरफ्तार कर

न्यायालय में पेश किया गया है। वहीं एक अन्य मामले में स्थाई वारंटी राजकुमार कोल पिता रमेश कोल जो बीते 7 वर्ष पुराने प्रकरण में फरारी काट रहा था, उसे कल गिरफ्तार कर लिया गया। गौरतलब है कि मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी राजकुमार कोल अपने घर बैरिहवा आने वाला है। जिसपर एसडीओपी राजीव पाठक के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी निरीक्षक मनीष त्रिपाठी द्वारा एक टीम गठित कर आरोपी की धरपकड़ के लिए ग्राम बैरिहवा भेजी गई, जिन्होंने घेराबंदी कर आरोपी

राजकुमार कोल को धर दबोचा। जिसे आज पुलिस अभिरक्षा में न्यायालय में पेश किया गया है।

वारंटी को पकड़ने गई टीम में सहायक उपनिरीक्षक डी एन सिंह, संतोष सिंह, प्रधान आरक्षक संजय सिंह, अर्जुन सिंह, आरक्षक सुरेश परस्ते, नीरज यादव, महिला आरक्षक पूजा त्रिपाठी शामिल थे।

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments