ये हैं Jabalpur की शानदार जगहें जहाँ आप फैमिली के साथ छुट्टीयां मना सकते हैं…

google image

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Jabalpur पहाड़ियों और हरे भरे जंगलों से घिरा हुआ है। इस जगह की प्राकृतिक सुंदरता इसकी सीमाओं में प्रवेश करते ही सभी का ध्यान अपनी ओर खींच लेती है।

प्रकृति की गोद में बसे इस शहर पर मां नर्मदा की भी कृपा है। नर्मदा का पवित्र जल न केवल Jabalpur शहर की प्यास बुझाता है, बल्कि इस पर बने झरनों, घाटों और बांधों की सुंदरता ने शहर के पर्यटन को प्रोत्साहित किया है। भेड़ाघाट, बरगी बांध, ग्वारीघाट व तिलवारा जैसे घाट शहर में आने वाले लोगों के लिए सबसे लोकप्रिय स्थान हैं।

प्राकृतिक स्थान के रूप में डुमना नेचर पार्क भी एक ऐसी जगह है जहां प्राकृतिक सुंदरता के साथ-साथ वन्य जीवन भी देखा जा सकता है। इसके साथ ही यह शहर मदन महल के किले के रूप में भी जाना जाता है, जो गोंड साम्राज्य की समृद्धि और वीरता की कहानी कहता है।

google image

1. भेड़ाघाट में स्मोकी फॉल्स :

Jabalpur शहर में आने वाले करीब 70 फीसदी सैलानी खुद वेदाघाट जाना पसंद करते हैं। वेदाघाट के धुएँ के रंग के झरने, पंचबटी की प्राकृतिक सुंदरता न केवल पर्यटकों को आकर्षित करती है, बल्कि नर्मदा के तट पर लोगों की आस्था भी रखती है।

विशेषताएं :
नर्मदा समुद्र तट पर सफेद संगमरमर के पत्थरों की सुंदरता लुभावनी है। इसके अलावा संगमरमर की चट्टानों के बीच बने नर्मदा प्राकृतिक जलप्रपात को देखने के लिए देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। वहीं कलचुरी काल के चौंसठ योगिनी मंदिर भी यहां खास हैं। जहां काले पत्थर से बनी शिव-पार्वती की मूर्ति की पूजा की जाती है। वेदाघाट में पंचबटी घाट से पाल उठाकर संगमरमर के पत्थरों को करीब से देखा जा सकता है।

दूरी :
Jabalpur शहर से 20 किमी दूर वेदाघाट, सड़क मार्ग से आसानी से पहुँचा जा सकता है। जबलपुर निकटतम रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा भी है।

2. बरगी बांध :

नर्मदा नदी पर बने बरगी बांध की पानी भरी सुंदरता साल भर पर्यटकों को खूब आकर्षित करती है. इसके अलावा बरसात के दिनों में यदि बांध का फाटक खोल दिया जाए तो एक दिन हजारों की संख्या में स्थानीय लोग यहां आकर पानी के बहाव का आनंद लेते हैं।

विशेषताएं :
बरगी बांध एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल बन गया है। यहां मप्र सरकार का रिजॉर्ट भी है। बोर्ड की सवारी, मछली पकड़ने, पानी के स्कूटर और परिभ्रमण भी हैं। तोता, लोथ, सारस, कबूतर जैसे स्थानीय पक्षी भी यहाँ आसानी से देखे जा सकते हैं।

दूरी :
शहर से बरगी बांध की दूरी करीब 40 किलोमीटर है। जहां सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है। इसके अलावा, Jabalpur निकटतम रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा है।

3. मदन महल किला :

करीब 500 मीटर की ऊंचाई पर हथगोले को काटकर बनाया गया मदन महल किला कभी गौर के राजा मदन शाह की चौकी हुआ करता था। किले की इमारत का इस्तेमाल सेना की निगरानी चौकी के रूप में किया जाता था। यह वर्तमान में भारतीय पुरातत्व संस्थान की देखरेख में है।

google image

विशेषताएं :
कहा जाता है कि मदन महल का किला वीर रानी दुर्गावती ने युद्ध के दौरान अपने पूर्वजों द्वारा निर्मित इस किले का उपयोग करके बनवाया था। ऐसा लगता है कि यह दो खंडों में रहा होगा लेकिन अब कुछ ही हिस्से बचे हैं। इस महल में कई गुप्त सुरंगें हैं जिन्हें युद्ध के दौरान बहादुर रानी दुर्गावती ने भी बनवाया था।

दूरी :
Jabalpur शहर के अंदर मदन महल का किला। इसकी दूरी रेलवे स्टेशन से करीब पांच किलोमीटर है। यह स्टेशन से किसी भी सार्वजनिक परिवहन द्वारा आसानी से पहुँचा जा सकता है।

4. ग्वारीघाट, नर्मदा का एक घाट :

ग्वारीघाट नर्मदा नदी के तट पर बना एक प्रमुख घाट है। जिसका मुख्य घाट उमाघाट कहलाता है। जिल्हारी और तिलवाड़ा जैसे शहरों में नर्मदा के तट पर कई घाट बने हैं, लेकिन गुआरीघाट में सबसे ज्यादा भीड़ होती है। मां नर्मदा की मान्यता के चलते यहां रोजाना सुबह 4 बजे से रात 12 बजे तक करीब दो से तीन हजार लोग आते हैं। जिसमें स्थानीय के साथ-साथ बाहरी भी शामिल हैं।

विशेषताएं :
नदी के बीच में बना मां नर्मदा मंदिर यहां की खासियत है। घाट का पुनर्निर्माण लाल जयपुरी पत्थरों से किया गया है। यहां शाम भर बोटिंग का मजा लिया जा सकता है। शाम को महाआरती और दीपदान देखने से लोगों का सम्मान और आस्था पैदा होती है।

दूरी :
ग्वारीघाट शहर में स्थित है। रेलवे स्टेशन से दूरी करीब 10 किलोमीटर होगी। यह सड़क मार्ग से आसानी से पहुँचा जा सकता है।

5. डुमना नेचर पार्क :

डुमना नेचर पार्क शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। इसे डुमना नेचर रिवर पार्क के नाम से भी जाना जाता है। फैक्ट्री के पीछे स्थित यह पार्क दुमना जंगल के बीच में बना है और प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। पार्क के बीच में बनी खंडारी झील इस पार्क की खूबसूरती में चार चांद लगा देती है। वहीं बारिश के दिनों में खंडारी से बने झरने का पानी शीशे की तरह चमक रहा है.

विशेषताएं :
पर्यटकों की सुविधा के लिए डुमना को पूरी तरह से सुसज्जित किया जा रहा है। यहां हिरण, चीतल, मोर, बंदरों का झुंड, मगरमच्छ जैसे वन्यजीव आसानी से देखे जा सकते हैं। आगंतुकों के लिए साइकिल ट्रैक भी बनाए गए हैं। जो साइकिल सवारों की पसंदीदा जगह है।

google image

दूरी :
डुमना नेचर पार्क Jabalpur एयरपोर्ट रोड पर स्थित है। मुख्य शहर से इसकी दूरी करीब 10 किलोमीटर है। जहां सड़क मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

Father-Daguther: पुतिन की खूबसूरत बेटी, दुनिया से छिपाकर अपने परिवार को रखता है रूसी राष्ट्रपति

Google Pay Offer: गूगल पे दे रहा आप को 250 रुपए कमाने का मौका,जानिए कैसे ले इस ऑफर का फायदा ?

25 February 2022 Rashifal: आज इन 3 राशि वालों को मिलेगी सफलता,क्या आप की राशि है इसमें

Tulsi face pack: अगर चाहते है कील मुँहासों से छुटकारा तो आज ही लगाए यह चमत्कारी तुलसी पैक, रातोंरात पाए चमकदार त्वचा

Battlegrounds Mobile India:भारत में फ्री Royale Pass 8 लेने का सुनहरा मौका, जानिए क्या है प्रोसेस

प्रेगनेंसी में नारियल पानी पीने से सेहत को मिलते हैं अनोखे फायदे, आप भी जानें

Protein Powder के side effects: भूलकर भी ना ले प्रोटीन वरना होगी बड़ी परेशानी

Russia-Ukraine युद्ध का पहला दिन, ‘अकेला पड़ा यूक्रेन’, हर तरफ मची तबाही, 137 लोगों की मौत, 4 दिन में रूस के कब्जे में आ सकती है कीव

Income Tax Raid Shiv sena: आयकर विभाग ने शिवसेना के पार्षद के ठिकानों पर की छापेमारी

Madhya Pradesh News: बोरवेल में गिरा 4 साल का मासूम,15 घंटे चला रेस्क्यू

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.