Surya Rashi Parivartan 2022: : मीन राशि में प्रवेश करते ही सूर्य की तरह चमकेगा इनका भाग्य

google image

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

नई दिल्ली। अभी तक कुंभ Rashi में Meen Sankranti 2022 चल रहे ग्रहों के राजा सूर्य बहुत जल्द परिवर्तन करने जा रहे हैं। पंडित रामगोविंद शास्त्री के अनुसार जी हां सूर्य 15 मार्च को सूर्य 12 बजकर 31 मिनट पर कुंभ से मीन में गोचर करेंगे। इसी के साथ विभिन्न राशियों पर इनका प्रभाव दिखने लगेगा।

इन राशि की चमकेगी किस्मत —

वृषभ राशि –
सूर्य का यह गोचर वृष राशि के ग्यारहवें भाव में रहेगा। सूर्य का गोचर आपके लिए आर्थिक दृष्टि से बहुत अच्छा बीतने वाला है। अगर आप जमीन—जायजाद खरीदने की सोच रहे हैं तो समय उत्तम है। अगर आप नौकरी पेशा हैं तो आपको प्रमोशन मिल सकता है। हालांकि स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं।

google image

मेष राशि –
सूर्य का ये गोचर इस Rashi के कुंडली के बारहवें भाव में रहने वाला है। इसलिए इस राशि के छात्रों के लिए बेहद खास रहने वाला है। अगर आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहें हैं तो शुभ परिणाम मिल सकते हैं। हालांकि आपको इस दौरान निवेश से बचने की सलाह दी जा रही है।

कर्क राशि –
सूर्य का ये गोचार इस राशि के नवम भाव में रहेगा। इस दौरान आपकी आर्थिक स्थिति में जबरदस्त सुधार देखने को मिलेगा। भाग्य का भी साथ मिलेगा।

मिथुन राशि –
इस गोचर काल के दौरान सूर्य आपकी राशि के दसवें भाव में रहेंगे। इस दौरान इस राशि वालों के करियर में कोई बड़ा परिवर्तन आ सकता है। आर्थिक पक्ष भी आपका मजबूत होगा। अगर आप सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो इस दौरान आपको सफलता मिल सकती है।

हर एक महीने में बदलती है सूर्य की चाल —
ज्योतिषाचार्य पंडित रामगोविन्द शास्त्री के अनुसार 14 जनवरी से मकर राशि में चल रहे सूर्य 13 फरवरी को कुंभ में प्रवेश करने जा रहे हैं। इसके बाद ये 14 मार्च को मीन में गोचर करेंगे। उनके अनुसार 13 फरवरी यानि रविवार को सूर्य देव सुबह 7:36 पर मकर से कुंभ में प्रवेश करेंगे। 14 मार्च तक सूर्य इसी स्थिति में रहेंगे।

कुंडली में ऐसी होती है स्थिति सूर्य की —

ज्योतिषाचार्य के अनुसार सूर्य पहले भाव में उच्च के माने जाते हैं। पहला भाव यानि मेष राशि। जब जातक की कुंडली में पहले भाव में सूर्य विराजमान होते हैं तो समझ लीजिए आपको जीवन में यज, सम्मान बहुत तेजी से मिलने वाला है। वहीं कुंडली के सातवें भाव यानि तुला राशि में सूर्य नीच के माने जाते हैं। यदि आपकी कुंडली में भी सूर्य की ये स्थितियां हैं तो आपको सतर्क होने की जरूरत है। इसके विपरीत ये अपनी स्वराशि यानि सिंह में सामान्य फल देने वाले माने जाते हैं।

इन उपायों से बनेंगे सूर्य मजबूत –

अगर आपकी कुंडली में सूर्य नीच के या कमजोर स्थिति में हैं तो आपको ये उपाय करने चाहिए।
सूर्योदय के समय भगवान सूर्य देवता को अक्षत डालकर जल अर्पित करें।
सूर्य मंत्र का जाप करें।
गायत्री मंत्र का जाप करें।
दाहिने हाथ की अनामिका अंगुली में माणिक का धारण करने से सूर्य मजबूत होते हैं।

नोट : इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित है। बंसल न्यूज इसकी पुष्टि नहीं करता। अमल में लाने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

सिंगरौली चितरंगी में मिला ग्लूकोनाइट,singrauli Chitrangi में Glauconite का खजाना

Physical Relation:शादी से पहले संबंध बनाना सही है, या गलत, जानिए

Mahindra Thar को लाएँ सिर्फ 691 रूपये में, जानें Offer

Scorpio – महिंद्रा की दमदार स्कॉर्पियो भी आ गई है अपने नए अवतार में – जानिए क्या है इसमें खास

Old Note मात्रा 1 रूपये (Rupee) का ऐसा नोट बदल देगा आपकी किस्मत, जानिए प्रोसेस।

Old Note आपके पास भी है 786 नंबर का कोई एक भी नोट, तो आपको मिलेंगे पूरे 3 लाख रुपए…

Old Coin : पुराने नोट और सिक्को से अब ऐसे कमा सकते है लाखो रूपये… जानिए कैसे ?

10 Rupees Old Note के बदले यहाँ मिल रहा है 2 लाख रुपये

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.