singrauli 10 हजार की रिश्वत लेते हेड कांस्टेबल ट्रेप, रीवा लोकायुक्त ने दबोचा

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज़ सिंगरौली। रीवा लोकायुक्त पुलिस ने सिंगरौली जिले में दबिश देकर नवानगर थाने में पदस्थ एक भ्रष्टाचारी प्रधान आरक्षक को बेनकाब किया है। लोकायुक्त सूत्रों की मानें तो हेड कांस्टेबल 10 हजार की रिश्वत लेते हुए ट्रेप हुआ। दावा है आरोपी पुलिसकर्मी ने कोल माइंस की गाड़ियों की इंट्री के एवज में रकम मांगी थी। लेकिन बिना पैसे लिए ट्रांसपोर्टर को परेशान कर रहा था।

ऐसे में थक हारकर ट्रांसपोर्टर रीवा लोकायुक्त एसपी के पास पहुंचा था। जहां आवेदन का सत्यापन कराने पर शिकायत सही पाई गई। ऐसे में मंगलवार की सुबह निगाही मोड़ के पास रिश्वत के साथ रंगे हाथ पकड़ लिया है। अब लोकायुक्त की टीम आरोपी प्रधान आरक्षक को लेकर विश्राम गृह पहुंची है। जहां भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

वर्दी में आरोपी जानकी प्रसाद तिवारी और ट्रांसपोर्टर उमाशंकर दुबे
वर्दी में आरोपी जानकी प्रसाद तिवारी और ट्रांसपोर्टर उमाशंकर दुबे

रीवा लोकायुक्त एसपी गोपाल सिंह धाकड़ ने बताया कि मंगलवार की सुबह जानकी प्रसाद तिवारी प्रधान आरक्षक 85 थाना नवानगर जिला सिंगरौली को 10 हजार की रकम के साथ पकड़ा गया है। उसके खिलाफ शिकायतकर्ता एवं ट्रांसपोर्टर उमाशंकर दुबे ग्राम कचनी जिला सिंगरौली कुछ दिन पहले रीवा ​कार्यालय पहुंचकर शिकायती ​आवेदन ​दिया था।

प्रतिमाह 15000 रुपए की मांग
ट्रांसपोटर का आरोप था कि कोल माइंस की गाड़ियों की इंट्री के एवज में प्रतिमाह 15000 की मांग की गई थी। महीना न देने पर चालक से लेकर पूर स्टाफ को परेशान किया जा रहा थ। सत्यापन उपरांत शिकायत सही पाई गई। ऐसे में ट्रैपिंग के लिए डीएसपी प्रवीण सिंह परिहार के मार्गदर्शन में निरीक्षक जियाउल हक के नेतृत्व वाली 12 सदस्यीय टीम भेजी थी।

निगाही मोड़ के पास लोकायुक्त ने पकड़ा

लोकायुक्त एसपी ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मी ने ट्रांसपोटर को निगाही मोड़ पर बुलाया था। जिसकी जानकारी पहले ही ट्रांसपोर्टर ने लोकायुक्त को दे दी थी। ऐसे में 12 सदस्यीय दल सिविल कपड़े में खड़ा थस। जैसे ही ट्रांसपोर्टर ने 15000 रुपए दिए और आरोपी प्रधान आरक्षक ने जेब में पैसे रखे। तभी इशारा समझते ही लोकायुक्त ने धर दबोचा है।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *