रेल यात्रियों को शिवराज सरकार की बड़ी सौगात: चलती ट्रेन में दर्ज होगी ऑनलाइन FIR, GRP थाने जाने की जरूरत नहीं

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रेल यात्रियों (Indian Railways passengers) को सरकार ने बड़ी सौगात दी है। अब चलती ट्रेन में यात्री किसी भी आपराधिक घटना (criminal incident) की E-FIR दर्ज करा सकते हैं। उन्हें अपनी ट्रेनें छोड़कर GRP थाने में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। शासकीय रेल पुलिस GRP का 155वां स्थापना दिवस पहली बार भोपाल में मनाया गया। इस दौरान मध्य प्रदेश में आने वाली भोपाल, जबलपुर, इंदौर रेल इकाईयों की अलग-अलग वेबसाइट लॉन्च की गईं।

इन तीनों वेबसाइट में चलती ट्रेन में सफर करने वाले रेल यात्रियों के लिए E-FIR का ऑप्शन दिया गया है। इस ऑप्शन के जरिए चोरी समेत दूसरे आपराधिक मामलों की शिकायत आसानी से की जा सकती है. इस ऑप्शन में घटना से जुड़ी तमाम जानकारी अपलोड करने के बाद ऑटोमेटिक ई-एफआईआर जनरेट हो जाएगी. रेल यात्री grpbhopal.mppolice.gov.in, grpjabalpur.mppolice.gov.in, grpindore.mppolice.gov.in पर E-FIR के साथ-साथ दूसरी मदद भी ले सकते हैं।

Read Also….राजधानी में आवारा कुत्ते का मासूम पर हमला,दिल दहला देने वाला Video

वेबसाइट के अलावा रेल यात्रियों को grpmphelp एप पर भी मदद मिलेगी. इस एप पर भी यात्रियों को SOS बटन का ऑप्शन है. इस पर तत्काल मदद मिलेगी. इस एप को गूगल प्ले स्टोर से आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है. साथ ही, इस एप में महिला सुरक्षा के साथ मदद और समस्या के समाधान के भी तमाम ऑप्शन दिए गए हैं। भोपाल जीआरपी एसपी हितेष चौधरी ने बताया कि QRT भी चलती ट्रेन में यात्रियों को एफआईआर उपलब्ध करा रही है. भोपाल, जबलपुर, इंदौर रेल इकाईयों में 1 जनवरी से 7 जनवरी तक रेल यात्री सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है।


दूसरी ओर, MPPEB द्वारा 8 जनवरी से एमपी पुलिस में कॉन्स्टेबल पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाएगा. परीक्षा 100 अंको की होगी. जिसमें उम्मीदवारों से 100 प्रश्न पूछे जाएंगे. सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे. खास बात यह है कि परीक्षा में किसी प्रकार की नेगेटिव मार्किंग नहीं की जाएगी.

ऐसे में उम्मीदवारों को हर प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश करनी चाहिए. परीक्षा के बाद एमपीपीईबी द्वारा इसकी आंसर की जारी की जाएगी. जिस पर उम्मीदवार आपत्ति दर्ज करा सकेंगे. परीक्षा के बाद कुल पदों से 5 गुना अधिक उम्मीदवारों को शारीरिक दक्षता परिक्षण के लिए बुलाया जाएगा।

गौरतलब है कि एमपीपीईबी ने कॉन्स्टेबल एवं रेडियो कांस्टेबल के 4000 पदों पर भर्ती के लिए 2020 में अधिसूचना जारी की थी। परीक्षा में सामान्य ज्ञान, बौद्धिक क्षमता व मानसिक अभिरुचि एवं विज्ञान व सरल अंक गणित के प्रश्न पूछे जाएंगे. जिसमें सामान्य ज्ञान व तार्किक ज्ञान से 40 अंकों के प्रश्न वहीं अन्य दोनों में 30-30 अंकों के प्रश्न पूछे जाएंगे।Share on:

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *