शिवसेना के वरिष्ठ नेता और सांसद संजय राउत ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे और हिंदुत्व को लेकर बयान दिया है

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज़ : दरअसल, 30 जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि होती है. आज उनकी 74वीं पुण्यतिथि है. आज ही के दिन 1948 में नाथूराम गोडसे नाम के एक सिरफिरे ने बापू की हत्या कर दी थी. बापू की हत्या के बाद भारत समेत पूरी दुनिया गम में डूब गई थी. इधर कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने भी बापू की पुण्यतिथि पर ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा,

“एक हिंदुत्ववादी ने गांधी जी को गोली मारी थी. सब हिंदुत्ववादियों को लगता है कि गांधी जी नहीं रहे. जहां सत्य है, वहां आज भी बापू जिंदा हैं.”

गांधी जी की पुण्यतिथि पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता भूपेश बघेल की भी प्रतिक्रिया आई. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा सत्य और अहिंसा की विचारधारा है, जो गांधी जी से प्रभावित है. वहीं मोदी जी की विचारधारा सावरकर और गोडसे की विचारधारा है, जो हिंसा और षड्यंत्र पर आधारित है।

शिवसेना के वरिष्ठ नेता और सांसद संजय राउत ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे और हिंदुत्व को लेकर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की मांग जिन्ना ने की थी. इसलिए अगर कोई असली हिंदुत्ववादी होता, तो वो गांधी को नहीं जिन्ना को गोली मारता. राउत ने कहा कि अगर ऐसा किया होता तो उसे देशभक्ति कहा जाता. वो बोले कि गांधी जी के निधन पर दुनिया आज भी शोक में है. न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए राउत ने कहा,

“अगर कोई असली हिंदुत्ववादी होता तो वो जिन्ना को गोली मारता. गांधी को क्यों गोली मारता. जिन्ना ने पाकिस्तान की मांग की थी. जिसने देश का विभाजन किया, जिसने पाकिस्तान की मांग की, यानी जिन्ना को गोली मारनी चाहिए थी. अगर आप में हिम्मत थी तो जिन्ना को गोली मारते. एक फकीर गांधी को गोली मारना ठीक नहीं था”

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें