PM की सुरक्षा में चूक की जांच के लिए SC की रिटायर्ड जज इंदु मल्होत्रा करेंगी अगुवाई

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

नई दिल्ली। पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई, जिसमें देश की सर्वोच्च अदालत ने इस मामले की जांच रिटायर्ड जज से कराने की बात कही है। उसने एक समिति का गठन किया है, जिसकी अध्यक्षता सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा ​​करेंगी। इस समिति में इंदु मल्होत्रा को मिलाकर 5 लोग हैं, उनके अलावा बाकी के चार लोगों में पंजाब के डीजीपी,एनआईए के आईजीहाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल और पंजाब के अतिरिक्त डीजी शामिल हैं। इसी के साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने बाकी सभी मौजूदा जांच कमेटियों पर रोक भी लगा दी है।

बीती 5 जनवरी को पंजाब दौर पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई बड़ी चूक के मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की बनाई कमेटी करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को मामले की सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय की ही रिटायर्ड जज इंदू मल्होत्रा की अगुवाई में चार सदस्यों वाली कमेटी गठित की है। इसकी उम्मीद पहले ही की जा रही थी कि शीर्ष न्यायालय इस मामले की जांच अपने ही किसी रिटायर्ड जस्टिस द्वारा करवा सकता है। 

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित पैनल में अध्यक्ष रिटायर्ड जज इंदु मल्होत्रा के अलावा, एनआईए के डायरेक्टर जनरल, डायरेक्टर जनरल ऑफ पंजाब सिक्योरिटी और पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल के साथ ही अन्य सदस्य होंगे। पैनल गठित करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह स्वतंत्र समिति सुरक्षा में चूक के कारण, इसके लिए जिम्मेदार व्यक्तियों और भविष्य में इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए कदमों के बारे में जानकारी जुटाएगी। 

क्या है पूरा मामला?

गौरतलब है कि 5 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब के फिरोजपुर दौरे पर थे। उन्हें बठिंडा एयरपोर्ट से हेलीकॉप्टर से हुसैनीवाला जाना था लेकिन खराब मौसम के कारण हेलिकॉप्टर उड़ान नहीं भर सका इसलिए वो बॉय रोड हुसैनीवाला की तरफ जा रहे थे लेकिन तभी रास्ते में पीएम मोदी के काफिले को कुछ प्रदर्शनकारियों ने एक फ्लाईओवर पर 20 मिनट के लिए रोक लिया था। इसके बाद पीएम मोदी अपना कार्यक्रम रद्द कर वापस दिल्ली लौट आए थे। जिस फ्लाईओवर पर पीएम मोदी का काफिला रोका गया था वो जगह पाक बार्डर से मात्र 30 किलोमीटर दूर थी। इस घटना के बाद से पूरे देश में बवाल मच गया और पंजाब सरकार सवालों के घेरे में आ गई है।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.