राहुल अमेठी में: 2019 हार के बाद पहली बार पहुंचे, बोले- ये मेरा घर, कोई नहीं निकाल सकता

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अमेठी. 2019 लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में हार के करीब 2.5 साल बाद पहली बार अमेठी (Amethi) पहुंचे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इसे ‘अपना घर’ बताते हुए कहा कि उन्होंने यहां से राजनीति की शुरुआत की और यहीं सियायत का तरीका सीखा। बहन प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के साथ पदयात्रा (padyatra) से पहले जगदीशपुर में राहुल गांधी ने यह भी बताया कि कैसे उनका अमेठी आने का प्रोग्राम बना। उन्होंने कहा, ”कुछ दिन पहले प्रियंका मेरे पास आई और उसने मुझे कहा कि लखनऊ चलो। मैंने बहन से कहा कि लखनऊ (Lucknow) जाने से पहले मैं अपने घर जाना चाहता हूं। लखनऊ आने से पहले अपने परिवार से बात करना चाहता हूं।” राहुल गांधी ने आगे कहा, ”2004 में मैं राजनीति में आया और पहला चुनाव मैंने यहां से लड़ा था। आपने मुझे बहुत कुछ सिखाया। आपने मुझे राजनीतिक रास्ता दिखाया और मेरे साथ आप इस रास्ते पर हमेशा चले। इसलिए मैं आपको धन्यवाद देना चाहता हूं।” आज देश के सामने दो सबसे बड़े सवाल हैं बेरोजगारी और महंगाई। इन सवालों का जवाब न मुख्यमंत्री (Chief Minister) देते हैं ना प्रधानमंत्री (Prime Minister)।प्रधानमंत्री से सवाल पूंछे

राहुल गांधी ने कहा कि अभी आपने कुछ दिनों पहले देखा होगा कि प्रधानमंत्री गंगाजी में स्नान कर रहे थे। मगर प्रधानमंत्री देश को यह नहीं कह सकते कि देश में रोजगार क्यों नहीं पैदा हो रहे हैं? रोजगार खत्म क्यों हो गए हैं? हमारे देश के युवाओं को रोजगार क्यों नहीं मिल पा रहा है?

दूसरा सवाल है कि इतनी तेजी से महंगाई क्यों बढ़ती जा रही है? नरेंद्र मोदी इन सवालों का जवाब आपको नहीं देंगे इसलिए मैं आपको इसका जवाब दे रहा हूं। भाइयों और बहनों, इस देश को छोटे बिजनेस वाले मिडिल क्लास दुकानदार रोजगार देते हैं। उस पर नरेंद्र मोदी ने पहले आंख बंद कर नोटबंदी कर हमला कर दिया। फिर जीएसटी लागू कर दी। इसके बाद कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने के बाद कोई सहायता न देकर की है। इसलिए देश में महंगाई और बेरोजगारी दोनों बढ़ रही है।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *