OBC RESERVATION: OBC आरक्षण को लेकर MP हाईकोर्ट में एक और याचिका दायर, जानें पूरा मामला

source of google

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

जबलपुर. मध्यप्रदेश में 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) को लेकर एक और याचिका मध्यप्रदेश हाई कोर्ट (MP High Court) में दायर हुई है। फिलहाल मध्य प्रदेश आरक्षण अधिनियम 2019 को चुनौती देने वाली इस याचिका पर हाईकोर्ट ने अंतरिम राहत नहीं दी है। मामला वैज्ञानिक अधिकारियों की भर्ती से जुड़ा है। इस मामले पर अगली सुनवाई 28 फरवरी को होगी।

OBC Reservation याचिकाकर्ता अंजू शुक्ला की ओर से दायर की गई याचिका में कहा गया है कि मध्य प्रदेश में पीएससी द्वारा वैज्ञानिक अधिकारियों की भर्ती निकाली गई है, लेकिन भर्ती प्रक्रिया में ओबीसी वर्ग को 27 फीसदी आरक्षण दिया जा रहा है जो नियमों के खिलाफ है। हाई कोर्ट में याचिका पर सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से नियुक्त किए गए अधिवक्ता रामेश्वर पी सिंह ने तर्क दिया कि मध्य प्रदेश में ओबीसी वर्ग को 27 फीसदी आरक्षण देना संविधान के अनुरूप लिया गया फैसला है।

source of google

ये है मामला

 क्योंकि मध्य प्रदेश में ओबीसी वर्ग की जनसंख्या करीब 51 फीसदी है। लिहाजा इतने बड़े वर्ग को उचित OBC Reservation की जरूरत है। याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के मुताबिक किसी भी राज्य में 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण नहीं दिया जा सकता है। इसके जवाब में सरकार की ओर से हाईकोर्ट में तर्क गया कि ऐसा कोई कानून नहीं है जो कहता हो कि प्रदेश में 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण नहीं दिया जा सकता।

वहीं इंद्रा साहनी के केस में सुप्रीम कोर्ट ने विशेष परिस्थितियों में ही 50 फीसदी से ज्यादा OBC Reservation पर रोक लगाई है। याचिका में अंतरिम राहत की मांग की गई थी लेकिन हाईकोर्ट ने सरकार के तर्कों को सुनने के बाद अंतरिम राहत देने से इंकार कर दिया है और मामले पर अगली सुनवाई 28 फरवरी को तय की गई है।

source of google

वहीं एक अन्य याचिका में यूजी नीट (MBBS) में प्रवेश के लिए ओबीसी को आरक्षण अधिनियम एवं मध्य प्रदेश मेडिकल प्रवेश नियम 2018 के तहत ओबीसी वर्ग के छात्रों को 27 फीसदी आरक्षण नहीं दिए जाने को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। जस्टिस शील नागू एवं जस्टिस एमएस भट्टी की खंडपीठ ने सुनवाई के बाद प्रकरण को पूर्व में लंबित याचिकाओं के साथ क्लब करने के निर्देश दिए। मामले पर अगली सुनवाई 23 फरवरी को होगी। यह याचिका सिवनी की उमा कहार ने दायर की है। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता विनायक शाह और रामेश्वर सिंह ठाकुर ने पैरवी की।

UP election: नए लुक में नजर आई पीली साड़ी वाली मैडम,देखिए नया अवतार

सोशल मीडिया स्टार Kili Paul को , Tanzania में हाई कमिशन ऑफ इंडिया ने किया सम्मानित

Luxurious suv in india:भारतीय बाज़ार में इस दिन आएगी Luxurious SUV, अपने फीचर्स से देगी Audi, BMW को टक्कर

Rajasthani mirchi vada:नाश्ते में बनाए राजस्थानी स्वादिष्ट मिर्ची वडा और ले चाय के साथ आंनद

Chanakya Niti: हर व्यक्ति को नहीं बतानी चाहिए 5 बातें, वरना होने लगेगा नुकसान

singrauli samachar : रेप का आरोपी घर बैठकर बना रहा वीडियो, पुलिस बनी मूकदर्शक

JEE Main Update 2022: JEE Mains की परीक्षा इस साल 4 बार नहीं होगी, सिर्फ 2 Attempt मिलेंगे

UPSESSB : UPSESSB ने जारी किया प्रिंसिपल भर्ती का इंटरव्यू शेड्यूल, जानें पूरी डिटेल 

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें