MP इंदौर । सेक्स रैकेट में पकड़े गए तीन युवक निकले भाजपाई

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

इंदौर के स्पा सेंटर में संचालित हो रहे देह व्यापार के सिलसिले में जिन युवकों को पकड़ा गया है, उनमें तीन भाजपाई हैं। तीनों को वन मंत्री विजय शाह का करीबी बताया जा रहा है। उनके साथ इनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। इनके नाम उजागर होने के बाद से कांग्रेस ने विजय शाह से इस्तीफा मांगना शुरू कर दिया है। 

वहीं, अपने करीबी सहयोगी की संलिप्तता के आरोपों पर वन मंत्री विजय शाह ने कहा कि “जब हम सार्वजनिक जीवन में काम करते हैं तो बहुत से लोग हमारे साथ तस्वीरें लेते हैं। राजनीतिक और व्यक्तिगत जीवन में अंतर होता है। अगर उन्होंने कुछ भी गलत किया है, तो पुलिस कानून के अनुसार कार्रवाई करेगी।”

दरअसल, इंदौर के विजय नगर क्षेत्र में स्थित एक स्पा सेंटर पर क्राइम ब्रांच और महिला थाना पुलिस ने कार्रवाई की थी। यहां देह व्यापार चल रहा था। पुलिस ने विदेशी लड़कियों व लड़कों को पकड़ा था। जांच में नई बातें सामने आ रही है। यह बात सामने आई कि थाईलैंड की चार लड़कियों के पासपोर्ट में पुरुष लिखा है और वे लड़के थे। लिंग परिवर्तन कर लड़की बने हैं।

अब पता चला कि जो तीन लड़के पकड़ाए हैं, वे खंडवा के हैं और भाजपा से जुड़े हैं। वरुण यादव भाजपा मंडल उपाध्यक्ष खालवा, विवेक नामदेव भाजयुमो की मंडल कार्यकारिणी का पूर्व महामंत्री है। अशोक सिंगला भाजपा कार्यकर्ता और ढाबा संचालक है।

तीनों वन मंत्री और हरसूद विधायक विजय शाह के करीबी हैं। इनकी करतूतों से पार्टी की छवि खराब हुई है। जिला से लेकर मंडल स्तर तक बैठकें शुरू हो गई हैं। भाजपा जिला अध्यक्ष सेवादास पटेल ने कार्रवाई के संकेत दिए है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि इस घटना में जो भी पार्टी पदाधिकारी शामिल हैं, उन पर कार्रवाई होगी।  


इस मामले के बाद अब कांग्रेस हमलावर हो गई है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट किया कि इस स्पा सेंटर को भी भाजपा नेताओ के संरक्षण की बात सामने आ रही है। कांग्रेस की मांग है कि इस खुलासे के बाद वन मंत्री इस्तीफा दें। कांग्रेस का आरोप है कि इस मामले को दबाने व छिपाने के लिये ही जान-बूझकर इंदौर-भोपाल में भाजपा नेता जावेद हबीब का मामला उछाल रहे हैं।  

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.