मिस यूनिवर्स: 21 साल बाद भारत की हरनाज के सिर सजा ताज

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

येरुशलम. इजराइल हुए 70वें मिस यूनिवर्स पेजेंट में इस बार भारत को कामयाबी मिली है। मिस यूनिवर्स का ताज भारत की ब्यूटी क्वीन हरनाज कौर संधू के सिर सजा है। 21 साल बाद भारत की सुंदरी मिस यूनिवर्स मिली। इस बार हरनाज ने 78 देशों की सुंदरियों को हराकर ताज अपने नाम कर लिया बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्वशी रौतेला को मिस यूनिवर्स कॉन्टेस्ट में जज बनने का मौका मिला था। वो भारत की तरफ से ज्यूरी का हिस्सा थीं।भारत ने तीसरी बार जीता खिताब

1994 में पहली बार भारत की तरफ से सुष्मिता सेन ने मिस यूनिवर्स का खिताब जीता था। इसके बाद 2000 में लारा दत्ता ने मिस यूनिवर्स का ताज अपने नाम किया था। इस बार ये रहीं Top 3

  • हरनाज कौर संधू (भारत)- मिस यूनिवर्स 
  • मिस पराग्वे दूसरे नंबर पर रहीं 
  • मिस साउथ अफ्रीका तीसरे स्थान पर जगह बनाने में कामयाब हुईं 

कौन हैं मिस यूनिवर्स हरनाज संधू?

हरनाज चंडीगढ़ की रहने वाली हैं। उनका जन्म सिख परिवार में हुआ था. हरनाज फिटनेस और योग लवर हैं। 2017 में हरनाज ने मिस चंडीगढ़ का ख‍िताब जीता था। इसके एक साल बाद 2018 में हरनाज को मिस मैक्स इमर्ज‍िंग स्टार इंड‍िया 2018 के ताज से नवाजा गया था। 2019 में हरनाज ने मिस इंड‍िया में हिस्सा लिया, जहां वे टॉप 12 तक जगह बनाने में कामयाब हुई थीं।

हरनाज पेशे से एक मॉडल हैं। उन्होंने चंडीगढ़ के शिवालिक पब्लिक स्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई की। चंडीगढ़ से ही ग्रेजुएशन करने के बाद वे  मास्टर्स की पढ़ाई कम्प्लीट कर रही हैं। महज 21 साल की हरनाज ने मॉडलिंग व कई पेजेंट में हिस्सा लेने और जीत हासिल करने के बावजूद भी पढ़ाई से दूरी नहीं बनाई।हरनाज को फिल्मों में इंटरेस्ट

हरनाज मिस यून‍िवर्स 2021 कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेने से पहले फिल्मों में भी अपनी जगह पक्का कर चुकी हैं। उनके पास दो पंजाबी फिल्में ‘बाई जी कुटांगे और  ‘ यारा दियां पूर बारां ‘ है, जो कि अगले साल रिलीज होगी।

17 साल की उम्र तक हरनाज काफी इंट्रोवर्ट हुआ करती थीं। स्कूल में दुबलेपन के कारण उनका मजाक भी बनाया जाता था। इस वजह से कुछ समय के लिए वे डिप्रेशन में भी रहीं, लेकिन फैमिली ने हमेशा उन्हें सपोर्ट किया। वे फूडी हैं, पर फिटनेस का भी ख्याल रखती हैं।

एक इंटरव्यू के दौरान हरनाज ने बताया था कि वे हर चीज खाती है, जो उन्हें पसंद है। इन सबके बावजूद वर्कआउट करना नहीं भूलतीं। उनका मानना है कि सभी को अपने मन का खाना खाना चाहिए। मगर वर्कआउट करना ना छोड़ें। 

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *