Maruti Grand Vitara मारुति सुजुकी ने हाल ही में अपनी ग्रैंड विटारा को लॉन्च किया है, जो की काबिलियत देख सब हैरान,जानिए

PHOTO BY GOOGLE

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Maruti Grand Vitara मारुति सुजुकी ने हाल ही में अपनी ग्रैंड विटारा को लॉन्च किया है. इसके ऑल-ग्रिप वाले वेरिएंट को ऑफ-रोडिंग कैपेबल भी बनाया गया है. लेकिन, यह कितना ऑफ-रोडिंग कैपेबल है, इस सवाल का पता लगाने के लिए हमने इसका ऑफ-रोडिंग टेस्ट किया. हमने ग्रैंड विटारा के अप्रोच एंगल, डिपार्चर एंगल, हिल होल्ड असिस्ट, हिल डीसेंट कंट्रोल, आर्टिकुलेशन, ऑल ग्रिप और स्नो मोड जैसे तमाम फीचर्स टेस्ट किए।

Maruti Grand Vitara मारुति सुजुकी ग्रैंड विटारा के जिस वेरिएंट में आपको ऑल-ग्रिप फीचर (जो इसे ऑफ-रोडिंग कैपेबल बनाता है) मिलता है, उसमें 1.5 लीटर के-सीरीज पेट्रोल इंजन है, जिसे 5-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन से जोड़ा गया है. ऑल-ग्रिप फीचर सिर्फ 5-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन के साथ ही आता है, इसमें ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन नहीं मिलता है. यह फुल टाइम ऑल-ग्रिप यानी ऑल-व्हील ड्राइव सिस्टम पर बेस्ड नहीं है. आपको इसे सलेक्ट करना होता है।

Maruti Grand Vitara इसका मतलब है कि जब आप सामान्य रोड पर क्रूज कर रहे होंगे तो आप कार को फ्रंट व्हील ड्राइव पर चला सकते हैं और अगर आप ऑफ-रोडिंग के लिए जा रहे हैं, तो आप जरूरत पड़ने पर ऑल-ग्रिप का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे कार फ्रंट व्हील ड्राइव से अलग होकर ऑल-व्हील ड्राइव पर शिफ्ट हो जाएगी. इससे माइलेज और परफॉर्मेंस, दोनों बेहतर बने रहते हैं. खैर, वापस ऑफ-रोडिंग पर लौटते हैं।

Maruti Grand Vitara मारुति सुजुकी ने हाल ही में अपनी ग्रैंड विटारा को लॉन्च किया है, जो की काबिलियत देख सब हैरान,जानिए

PHOTO BY GOOGLE

Maruti Grand Vitara एसयूवी के अप्रोच एंगल और डिपार्चर एंगल को टेस्ट करने के लिए हम इसे करीब 25 डिग्री के डाउनसाइड एंगल पर अप्रोच-डिपार्चर एंगल पिट में लेकर गए और फिर वहां से एसयूवी को वाहर निकाला, जिससे पता चला कि अप्रोच और डिपार्चर एंगल, दोनों काफी बेहतर हैं, इन्हें लेकर शायद किसी को शिकायत नहीं होगी।

Maruti Grand Vitara
PHOTO BY GOOGLE

हम एसयूवी को आर्टिकुलेशन टेस्ट के लिए भी लेकर पहुंच गए हैं, जहां हमने देखा कि काफी आर्टिकुलेट होने के दौरान भी एसयूवी स्टेबल रहती है और व्हील्स की पावर सप्लाई पर आर्टिकुलेशन के हिसाब से व्हील्स-टू-व्हील्स शिफ्ट होती रहती है. हालांकि, इसके बाद जब हम इसके स्नो मोड को टेस्ट करने पहुंचे तो यहां इसकी परफॉर्मेंस उतनी अपटू द मार्क नहीं लगी।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *