मध्यप्रदेश-पति बनना चाहता था ”गैंगस्टर दुर्लभ कश्यप”,पत्नी ने बिगाड़ दिया खेल

google photo

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

पत्नी से पंगा लेना एक पति को भारी पड़ गया. अब पत्नी को शिकायत पर पति को पुलिस ने हवालात में डाल दिया है. आरोपी पति उज्जैन के एक गैंगस्टर दुर्लभ कश्यप से काफी प्रभावित था. वो उसी की स्टाइल में खुद की गैंग बनाना चाहता था लेकिन आरोपी ने पहला पंगा अपनी पत्नी से ही ले लिया. जिसके चलते इसका बदमाशी का करियर शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया.

मध्यप्रदेश के मंदसौर में युवक ने पत्नी को ना भेजे जाने से नाराज होकर ससुराल में फायरिंग कर दी. पति की हरकत से नाराज पत्नी और उसके परिवार वालों ने थाने में एफआईआर दर्ज करवा दी. फिर क्या था पुलिस ने आरोपी अनिल कालबेलिया को गिरफ्तार कर लिया. मजेदार बात ये रही कि उसको पिस्टल उपलब्ध करवाने वाला आरोपी भी धरा गया.

दोनों को दुर्लभ कश्यप पसंद था
सीतामऊ थाना प्रभारी दिनेश प्रजापति ने बताया कि हमने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. जिसके पास से एक पिस्टल और जिंदा राउंड जब्त बरामद हुआ है. पूछताछ में जिस व्यक्ति से उसने पिस्टल खरीदना बताया उसे भी हमने गिरफ्तार किया है. सबसे बड़ी बात यह है कि इन दोनों के मोबाइल डिटेल देखने पर इसमें उज्जैन के शातिर बदमाश दुर्लभ कश्यप के फोटो मिले है और इसी स्टाइल में यह जिन्दगी जीना चाहते थे. तो निश्चित रूप से इस से यह उससे प्रेरित थे और कोई भी अपराध कर सकते थे. 

MP: पीड़िता ने किया दुष्कर्म की बात से इनकार फिर भी कोर्ट ने आरोपी को सुनाई 20 साल की सजा

Madhya Pradesh ने बनाया एक और रिकॉर्ड, इस योजना के तहत खुले 23 लाख खाते

कौन है दुर्लभ कश्यप
दुर्लभ कश्यप एक खास ड्रेस कोड, सोशल मीडिया के जरिए धमकी और गैंग का प्रचार करता था. यही उसके  काम करने का तरीका भी था. दुर्लभ को उज्जैन का सबसे बड़ा डॉन बनना था. माथे पर लाल टीका, आंखों में सुरमा और कंधे पर गमछा, यही दुर्लभ कश्यप और उसके गैंग की पहचान थी. 18 साल की उम्र तक दुर्लभ पर 9 मामले दर्ज हो चुके थे. दुर्लभ 16 साल की उम्र में अपराध की दुनिया में कदम रखा और 20 साल की उम्र में अपराध की दुनिया का पोस्टर बॉय बन कर मारा गया.

बता दें कि दुर्लभ कश्यप ने फेसबुक पर स्टेट्स लगाया था कि, वह कुख्यात बदमाश, हत्यारा और अपराधी है कोई सा भी विवाद हो. कैसा भी विवाद हो तो उससे संपर्क करें. इसी के साथ इन लोगों की प्रोफाइल पर हथियारों के साथ पोस्ट, धमकाने और दहशत फैलाने वाली पोस्ट भी डाली जाती थी. कई युवा आज भी उसके मुरीद है और उसके नाम से कई ग्रुप आज भी सोशल मीडिया पर रन कर रहे है.

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *