Madhya Pradesh ने बनाया एक और रिकॉर्ड, इस योजना के तहत खुले 23 लाख खाते

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) ने बेटियों के लिए चलाई जा रही योजनाओं में एक और रिकॉर्ड बना लिया है. दी गई जानकारी के मुताबिक सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) में मध्य प्रदेश ने करीब 23 लाख खाते खुलवाकर नया रिकार्ड बना लिया है. इस खुशी के मौके पर मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने सभी को बधाई दी.

सुकन्या समृद्धि योजना के 7 साल
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सुकन्या समृद्धि योजना के 7 वर्ष पूरे होने पर बधाई दी है और कहा कि प्रदेश में बेटियों के सपनों को पंख मिले हैं. सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए उनके स्वप्नों को साकार करना सरकार का और सभी का दायित्व है. केन्द्र सरकार और राज्य सरकार (MP Government) ने मिलकर बेटियों के सपनों को पंख लगाए हैं. आज मध्य प्रदेश ने सुकन्या समृद्धि योजना में करीब 23 लाख खाते खुलवाने की उपलब्धि अर्जित की है. निश्चित ही बेटियों में बचत की प्रवृत्ति का विकास हो रहा है. सीएम ने कहा कि उनके सशक्तिकरण के लिए निरंतर प्रयास होते रहेंगे.

प्रदेश में अब तक 22 लाख 94 हजार खाते खुले
सीएम शिवराज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बेटियों को सशक्त बनाने एवं उनका भविष्य सुरक्षित करने के उद्देश्य से शुरु की गई सुकन्या समृद्धि योजना के सफल 7 वर्ष आज पूरे हो गए हैं. एक सार्थक योजना के सफल 7 वर्ष पूरे होना हम सभी के लिए संतोष का विषय है. योजना की कामयाबी के लिए सभी सहयोगी नागरिक और परिवार बधाई के पात्र हैं. मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हाल ही में सुकन्या समृद्धि योजना के आंकड़े सामने आए हैं, उसके अनुसार बेटियों के आर्थिक सशक्तिकरण और उन्हें आत्म-निर्भर बनाने की इस योजना में प्रदेश में अब तक 22 लाख 94 हजार से अधिक खाते खोले जा चुके हैं.

समाज के सशक्तिकरण के लिए नारी का सशक्त होना बेहद जरूरी है. आज पैदा हुई बेटी कल समाज, प्रदेश और राष्ट्र को सशक्त बनाने में अपनी भूमिका निभा पाए, इसी उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना मील का पत्थर साबित हुई है.

MP की नई शराब पॉलिसी: अंग्रेजी सस्ती, 1 दुकान पर दोनों बिकेगी

LPG Gas Subsidy: यदि नहीं मिल रही LPG सब्सिडी? आज ही करें ये काम,खाते में पैसा

क्या है योजना
अगर आप साल 2022 में निवेश शुरू करेंगे और आपकी बेटी की उम्र 1 साल है. आपने 416 रुपये रोजाना बचाए, तो महीने में 12,500 रुपये निवेश करने होंगे. 12,500 रुपये हर महीने जमा करने पर एक साल में 1.5 लाख रुपये निवेश होंगे. साल 2043 में जब बेटी 21 साल की होगी तो स्कीम तब मैच्योर होगी. उस समय आपको कुल अमाउंट 6,500,000 रुपये मिलेगा.

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें