madhya pradesh Business Idea 2022- अपनों के लिए कुछ करने के सपने को सच्चाई में बदल रहा एक युवा

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज़। madhya pradesh Business Idea 2022 सागर कोरोना काल जैसे विपत्ति काल में सबकुछ खोने के बाद भी जिसने अपना आत्मविश्वास नहीं खोया उसी ने इस आपदा को अवसर का रूप दे दिया. आपदा बनकर आए कोरोना काल को कुछ जुनूनी लोगों ने अपनी जिद से अवसर में तब्दील कर दिया. आज मिलिए एक ऐसी ही शख्सियत एड. अनिरूद्ध सिंह से जिन्होंने कोरोना में अपने लिए नहीं बल्कि अपनों के लिए कुछ करने का सपना देख। उस सपने की सच्चाई को आज ‘जी’ भी रहे हैं।

madhya pradesh Business Idea 2022

साल-2020 में कोरोना की पहली लहर के वक्त इंदौर में चल रही अपनी प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग छोड़ एड. अनिरूद्ध सागर जिले के केसली अपने घर आ गए. तमाम सोच-विचार के बाद यहां उन्होंने स्ट्रॉबेरी की फसल लेने का मन बनाया और छोटी-मोटी परेशानियों के बाद उन्होंने बुंदेलखंड में इस अभिनव प्रयोग को सफल कर दिखाया. आज एड. सिंह का अनुसरण करते हुए आसपास के ही नहीं बल्कि बुंदेलखंड के कई इलाकों में किसानों ने स्ट्रॉबेरी की पैदावार लेनी शुरू कर दी है।

क्षेत्र के किसानों की आय में इजाफा करने के लिए अब एड. अनिरूद्ध ने केंद्र सरकार के रूरल टूरिज्म योजना पर काम करना शुरू किया है। ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने एक फार्मस्टे तैयार करवाकर आर्गनिक सब्जियों की पैदावार के साथ ही अपने खेत में सेवफल, चीकू, संतरा, मौसंबी, 10 प्रकार के अमरूद, काजू, बादाम, लौंग, इलायची, सुपाड़ी और नारियल जैसे देशभर में पैदा होने वाले कई फलदार पौधों को लगाया है. ग्रामीण पर्यटन का लुत्फ लेने वालों को यहां रहने के लिए हट्स बनवाई जा रही हैं. पर्यटकों को ग्रामीण परिवेश का भोजन पत्तों के दोना और पत्तल में दिया जाएगा. इससे जहां पर्यटकों को गांव का स्वाद व सादगी मिलेगी, वहीं ग्रामीणों को रोजगार व प्रकृति को प्लॉस्टिक व प्रदूषण से मुक्ति भी मिल सकेगी।

केसर की खेती

स्ट्रॉबेरी की फसल लेने के बाद अब एड. अनिरूद्ध अपने खेत में केसर पर हाथ आजमा रहे हैं. उन्होंने करीब 10 वाई 10 की जगह में केसर की फसल लगाई है। विपरीत आवोहवा के बीच अब तक तो केसर की फसल सुरक्षित व उन्नत है और एड. सिंह को भरोसा है कि उनकी मेहनत स्ट्रॉबेरी की ही तरह रंग लाएगी।

जल्द शुरू होगी टमाटर कैचअप यूनिट

प्रधानमंत्री फूड प्रोसेसिंग योजना के तहत एड. सिंह ने केसली में अपने खेत पर ही टमाटर कैचअप बनाने की यूनिट का काम शुरू किया है. जल्द ही इस यूनिट के शुरू होने के बाद केसली के युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। साथ ही टमाटर की पैदावार लेने वाले किसानों को भी अपनी फसल बेचने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

आला अधिकारियों ने सराहा’

क्षेत्र के किसानों की आय बढ़ाने व युवाओं को रोजगार देने के साथ-साथ केंद्र व राज्य सरकारों के ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा देने की योजना के तहत किए जा रहे एड. सिंह के प्रयासों को अब तक उनके फार्म हाउस पर पहुंच कर कमिश्नर श्री मुकेश शुक्ला और कलेक्टर श्री दीपक आर्य सहित कई आला अफसरान सराह चुके हैं। साथ ही उनके प्रयासों को लेकर हार्टीकल्चर विभाग की ओर से एक लघु फिल्म तैयार कर दूरदर्शन सहित अन्य राष्ट्रीय टीवी चैनलों पर प्रसरित की जा चुकी है। वहीं रेडियो और अन्य माध्यमों में भी एड. अनिरूद्ध के प्रयासों को लेकर समय-समय पर कार्यक्रम व लेख प्रकाशित होते रहते हैं।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *