नौकरी की झंझट खत्म! ईवी में इन्वेस्ट करें बस इतने रुपये, कमाएं बैंक से ज्यादा

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

नई दिल्ली। दुनिया भर के कई देशों में इलेक्ट्रिक व्हीकल का चलन तेजी से फैल रहा है। ऐसे में कई कंपनियों अपने इलेक्ट्रिक व्हीकल को लॉन्च कर रही है। ऐसे में ईवी से संबधित बिजनेस तेजी से उभर रहें है। वही ऐसे में अगर आप छोटी बचत पर भी ज्यादा रिटर्न कमाना चाहते हैं, तो इस कंपनी की इलेक्ट्रिक व्हीकल बैटरी में निवेश करना आपके लिए फायदे का सौदा हो सकता है, क्योंकि ये कंपनी इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए स्वैपेबल बैटरी बनाती है, जिसमें निवेश कर आप बैंक से ज्यादा रिटर्न कमा सकते हैं। तो चलिए जानतें है इस खास कमाई के बारे में

बस करना होगा ये काम

ईवी सेगमेंट में काम करने वाली स्टार्टाअप कंपनी Bounce स्वैपेबल बैटरी वाले इलेक्ट्रिक स्कूटर Bounce Infinity बनाती है। लोग कंपनी के इस स्कूटर को बिना बैटरी के भी खरीद सकते हैं, और जगह-जगह बने कंपनी के बैटरी स्वैप स्टेशन  से अपने स्कूटर के लिए बैटरी किराये पर भी ले सकते हैं। इसके अलावा कंपनी इलेक्ट्रिक स्कूटर को रेंट पर देकर शेयरिंग में भी चलाती है। ऐसे में कंपनी अपने Battery Infrastructure को डेवलप कर रही है। आप भी इसका हिस्सा बनकर अच्छी कमाई कर सकते हैं।

बस इतना करना होगा निवेश?

Voter Card: इस आसान तरीके से मोबाइल में डाउनलोड करें अपना वोटर आईडी कार्ड

Flipkart Big Saving Days Sale: iPhone 13 खरीदने का अच्छा मौका, मिल रहा अब तक का सबसे बड़ा डिस्काउंट

अगर आप Bounce के बैटरी इन्फ्रा में निवेश कर कमाई करना चाहते हैं, तो आप सबसे कम 10,300 रुपये का निवेश कर सकते हैं। इससे आप कंपनी की एक स्वैपेबल बैटरी को अपने एसेट की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कंपनी आपसे अपने वेरिफाइड स्वैप स्टेशन पार्टनर के लिए ले लेगी और किराये पर बैटरी लेने वालों से जो कमाई होगी उसका एक हिस्सा आपको भी देगी। इतना ही नहीं अगर आप ज्यादा निवेश करना चाहते हैं तो आप कंपनी के Battery Swap Station के किराये पर जगह दे सकते हैं। या फिर आप खुद से कंपनी के पूरे के पूरे बैटरी स्वैप स्टेशन को लगा सकते हैं।

Bounce का दावा है कि उसके एसेट में निवेश करने वालों को बैंक से ज्यादा रिटर्न मिलेगा। कंपनी का कहना है कि अगर कोई व्यक्ति उसके एसेट में 3 साल के लिए निवेश करता है तो वह निवेश पर 10% रिटर्न की उम्मीद कर सकता है। लोगों को अपनी बैटरी कंपनी के पास किराये पर चढ़ाने से जो इनकम होती है, वह कंपनी उनके खाते में अगले महीने की 7 तारीख तक जमा करा देती है।

इस तरह की कंपनी लेगी जिम्मेदारी!

Bounce के मुताबिक, अगर आप उसकी बैटरी या और किसी एसेट में निवेश करते हैं, तो उससे जुड़ी टूट-फूट, मेंटिनेंस, रिपेयर की जिम्मेदारी बाउंस और उसके वेरिफाइड पार्टनर्स की होगी। अगर आप इस स्कीम की मैच्योरिटी से पहले बाहर निकलना चाहते हैं तो छोटी सी फीस देकर आप बाहर भी आ सकत हैं। वहीं जब आपके निवेश वाली बैटरी की उम्र पूरी हो जाएगी, तो आप इसे स्क्रैप के लिए कंपनी को रिटर्न कर सकते हैं।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *