Tuesday, February 7, 2023
Homeधर्मJanmashtami: Shri Krishna Janmashtami 2022 Date अगर आप 18 अगस्त को मना...

Janmashtami: Shri Krishna Janmashtami 2022 Date अगर आप 18 अगस्त को मना रहे हैं कृष्ण जन्माष्टमी, तो जान लें ये जरूरी बातें

Shri Krishna Janmashtami 2022: अगर आप जन्माष्टमी का त्योहार 18 अगस्त को मना रहे हैं तो शुभ मुहूर्त व व्रत पारण के साथ कई जरूरी बातों का जानना जरूरी है। पढ़ें यहां-

Janmashtami

Krishna Janmahtami 18 August 2022: इस साल 18 व 19 अगस्त दोनों दिन कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा। ऐसे में कुछ लोग 18 और कुछ लोग 19 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत रखेंगे। हिंदू पंचांग के अनुसार, हर भादो मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र को जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाता है। इस साल अष्टमी तिथि 18 अगस्त व उदया तिथि और अष्टमी का आठवां पहर 19 अगस्त को पड़ रहा है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, कृष्ण जी का जन्म मध्यरात्रि को हुआ था। अगर आप 18 अगस्त को जन्माष्टमी मना रहे हैं तो जान लें ये जरूरी बातें-

कृष्ण जन्माष्टमी तिथि 2022-

भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 18 अगस्त 2022, गुरुवार को रात 09 बजकर 21 मिनट पर शुरू हो रही है। अष्टमी तिथि 19 अगस्त, शुक्रवार को रात 10 बजकर 50 मिनट पर समाप्त होगी।

श्रीकृष्ण पूजन का शुभ मुहूर्त-

18 अगस्त को रात्रि 12 बजकर 20 मिनट से 01 बजकर 05 मिनट तक रहेगा। पूजा अवधि 45 मिनट की है।

Shri Krishna Janmashtami 2022 Date: If you are celebrating Janmashtami on 18  August then know these important things - Astrology in Hindi - Shri Krishna  Janmashtami 2022 Date: अगर आप 18 अगस्त
Janmashtami

व्रत पारण का समय-

18 अगस्त को जन्माष्टमी व्रत रखने वाले भक्त 19 अगस्त को व्रत पाऱण करेंगे। व्रत पारण का समय 19 अगस्त को रात्रि 10 बजकर 59 मिनट के बाद है।

रोहिणी नक्षत्र के बिना जन्माष्टमी-

इस साल रोहिणी नक्षत्र के बिना जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा। इस साल 18 अगस्त यानी जन्माष्टमी के दिन भरणी नक्षत्र रात 11 बजकर 35 मिनट तक रहेगा। इसके बाद कृत्तिका नक्षत्र शुरू होगा।

जन्माष्टमी पर बन रहे शुभ योग-

18 अगस्त यानी जन्माष्टमी पर अभिजीत मुहूर्त 18 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 05 मिनट से 12 बजकर 56 मिनट तक रहेगा। वृद्धि योग 17 अगस्त को दोपहर 08 बजकर 56 मिनट से 18 अगस्त रात 08 बजकर 41 मिनट तक रहेगा। धुव्र योग 18 अगस्त रात 08 बजकर 41 मिनट से 19 अगस्त रात 08 बजकर 59 मिनट तक रहेगा। ज्योतिष शास्त्र में ध्रुव व वृद्धि योग को बेहद शुभ माना गया है।

जन्माष्टमी पूजन मंत्र-

ॐ देविकानन्दनाय विधमहे वासुदेवाय धीमहि तन्नो कृष्ण:प्रचोदयात।
कृं कृष्णाय नमः।

hal shashthi 2022 date: संतान की लंबी आयु के लिए रखा जाता है हल षष्ठी व्रत, हल से जुता हुआ कुछ नहीं खाते इस व्रत में

Sapna Choudhary2022: –सपना चौधरी अपने डांस के लिए बेहद मशहूर हैं

Mahindra Scorpio: नई Scorpio Classic की बाजार में जबरदस्त धूम, देखें खूबसूरत फोटो

अगर आपके पास भी मौजूद है यह नोट तो आप भी घर बैठे पा सकते है 5 लाख रूपए, देखे डिटेल

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments