Sunday, February 5, 2023
Homeराष्‍ट्रीयIAS Success Story: जाने कैसे बनी बहुत ही कम समय में IAS

IAS Success Story: जाने कैसे बनी बहुत ही कम समय में IAS

IAS Success Story: बहुत ही कम समय में पढ़ाई कर बन गयी IAS,बताई कैसे कर सकते IAS की तयारी IAS यशनी नागराजन की कहानी: नागराजन के मुताबिक यूपीएससी की तैयारी के लिए नौकरी छोड़ना जरूरी नहीं है। आपको बस बेहतर समय प्रबंधन के साथ कड़ी मेहनत करने की जरूरत है।

IAS Success Story: आईएएस यशनी नागराजन: यदि आप एक आईएएस आकांक्षी हैं, तो आप आईएएस अधिकारी यशनी नागराजन की सफलता की कहानी को नजरअंदाज नहीं कर सकते। आपको जानकर हैरानी होगी कि जब यशी यूपीएससी की तैयारी कर रही थी तब वह फुल टाइम जॉब कर रही थी। उन्होंने वर्ष 2019 में अखिल भारतीय रैंक 57 हासिल करके आईएएस अधिकारी बनने के अपने सपने को पूरा किया। उन्होंने अपने चौथे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास की और इसके पीछे का कारण बेहतर समय प्रबंधन था। नागराजन के मुताबिक यूपीएससी की तैयारी के लिए नौकरी छोड़ना जरूरी नहीं है। आपको बस बेहतर समय प्रबंधन के साथ कड़ी मेहनत करने की जरूरत है।

IAS Success Story
photo by google

IAS Success Story: यशनी नागराजन ने अपनी स्कूली शिक्षा केंद्रीय विद्यालय, नाहरलगुन से की। इसके बाद उन्होंने 2014 में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, युपिया से ईईई में बी.टेक पूरा किया। उनके पिता, थंगावेल नागराजन एक सेवानिवृत्त राज्य पीडब्ल्यूडी इंजीनियर हैं और उनकी मां गुवाहाटी उच्च न्यायालय रजिस्ट्री में ईटानगर शाखा के सेवानिवृत्त अधीक्षक हैं।

IAS Success Story: जाने कैसे बनी बहुत ही कम समय में IAS

IAS Success Story: यशनी रोजाना 4 से 5 घंटे पढ़ाई में लगा देती थी। इतना ही नहीं वीकेंड पर भी वह पूरा दिन पढ़ाई करती थी। उनका मानना ​​है कि अगर आप यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं और आपके पास फुल टाइम जॉब है तो आपको वीकेंड पर पढ़ाई करनी होगी। यह निश्चित रूप से आपकी तैयारी को मजबूत करेगा। सही समय प्रबंधन आपको 4 से 5 घंटे पढ़ाई के लिए अलग रखने में मदद करेगा।

IAS Success Story: बहुत ही काम समय में पढ़ाई कर बन गयी IAS,बताई कैसे कर सकते IAS की तयारी नागराजन के अनुसार, उन्होंने दूसरों के प्रभाव में भूगोल को एक वैकल्पिक विषय के रूप में चुना। गलत विषय के कारण वह अपने शुरुआती प्रयासों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई। बाद में, उन्होंने इस पर ध्यान दिया और विषय बदल दिया। वह कहती हैं कि, आपको अपनी पसंद का विषय चुनना चाहिए ताकि आप रुचि के साथ उसका अध्ययन कर सकें। यदि आपको विषय पसंद आया हो तो आप इसे गहराई से पढ़ेंगे। यूपीएससी परीक्षा में वैकल्पिक विषय महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं क्योंकि यह बेहतर अंक प्राप्त करने में मदद करता है।

IAS Success Story
photo by google

IAS Success Story: यशनी के मुताबिक, निबंध और नैतिकता ऐसे पेपर हैं जिनमें आप उच्च स्कोर कर सकते हैं। इसलिए इन विषयों को महत्व देना बहुत जरूरी है। उनका कहना है कि फुल टाइम काम करते हुए यूपीएससी की तैयारी करना मुश्किल है लेकिन इससे आपको फायदा होगा। जब आपके पास पहले से ही नौकरी है, तो यूपीएससी में फेल होने पर भी आप तनाव महसूस नहीं करेंगे। आप अपने करियर को लेकर ज्यादा चिंता न करें। आप कड़ी मेहनत और बेहतर समय प्रबंधन के साथ आईएएस या आईपीएस अधिकारी बन सकते हैं।

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments