MP में पंचायत चुनाव को लेकर गृह मंत्री का बड़ा बयान आया सामने

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव (MP Panchayat elections) को लेकर एक बार फिर से तैयारी तेज कर दी गई है। दरअसल पंचायत चुनाव की तारीखों की घोषणा और पूरी हुई तैयारी के बीच ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) मामले में फंसे पेंच की वजह से पंचायत चुनाव को निरस्त कर दिया गया था। एक बार फिर से पंचायतों के परिसीमन के आदेश जारी कर दिए गए हैं। वहीं पंचायत चुनाव पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) का बड़ा बयान सामने आया है।

दरअसल गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बीजेपी (BJP) हमेशा से प्रजातांत्रिक प्रक्रिया में पूर्ण विश्वास करती है। प्रदेश की भाजपा सरकार जल्द से जल्द प्रदेश में पंचायत चुनाव कराना चाहती है ताकि पंचायतों का काम सुदृढ़ रुप से चल सके। इसीलिए मध्यप्रदेश में दोबारा से पंचायत चुनाव के लिए पंचायतों के परिसीमन के आदेश दिए गए हैं।

प्रदेश में पंचायत चुनाव निरस्त होने के बाद ही इस मुद्दे पर लगातार सियासत देखी जा रही है। चुनाव निरस्त के बाद पंचायतों के संचालन को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। शिवराज सरकार द्वारा पंचायत का परिसीमन कराए जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। वहीं कांग्रेस (congress) द्वारा लगातार बीजेपी सरकार पर पलटवार किया जा रहा है। एक तरफ जहां सरकार सरकार ने पंचायतों के परिसीमन के आदेश जारी किए हैं।

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस का कहना है कि 2019 में कमलनाथ सरकार ने जो परिसीमन किया था वह बिल्कुल सही है। 2019 के परिसीमन आधार पर ही चुनाव कराए जाने चाहिए। वही नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस किसी भी चुनाव से डरने लगी है। इस कारण से चुनाव को निरस्त करने की तैयारी में लगी रहती है।

वहीं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह पर भी जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि राजनीति में सिर्फ इफ्तारी तक सीमित रहने वाले दिग्विजय सिंह जैसे लोग अपने आपको हिंदू साबित करने में लगे हुए। इससे ज्यादा अच्छे दिन और क्या हो सकते हैं। दिग्विजय जी देर आए दुरुस्त आए। देर से ही सही लेकिन उन्होंने अपनी आत्मा की आवाज सुनी है। लोग देश में खुद को हिंदू साबित कर रहे हैं। इससे ज्यादा अच्छे दिन देश में नहीं हो सकते।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें