Haridwar Hate Speech Case: धर्म परिवर्तन कर हिन्‍दू बनने वाले वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्‍यागी गिरफ्तार

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

यह भी पढ़े Aadhaar Card: घर बैठे आसानी से चेक करें किस बैंक खाते से लिंक है आपका आधार, ये है तरीका

हरिद्वार में हुई धर्मसंसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले की गूंज सुप्रीम कोर्ट में होने के बाद हरकत में आई हरिद्वार पुलिस ने यूपी शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी को हरिद्वार की सीमा नारसन में एंट्री करते ही गिरफ्तार कर लिया। रिजवी के खिलाफ हरिद्वार कोतवाली में तीन अलग-अलग मुकदमें दर्ज है। इधर, रिजवी की गिरफ्तारी होने के साथ ही हरिद्वार पुलिस बेहद ही चौकन्नी हो गई है।

पिछली 17 से 19 दिसंबर को उत्तरी हरिद्वार के वेद निकेतन आश्रम में हुई धर्मसंसद दुनिया भर में सुर्खियों में है। धर्मसंसद में एक विशेष वर्ग को लेकर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में यूपी शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी के खिलाफ दो मुकदमें शहर कोतवाली में दर्ज किए गए थे। पिछले दिनों यहां पहुंचे आरोपी वसीम रिजवी एवं साध्वी अन्नपूर्णा को हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने नोटिस भी थमाया था। 

यह भी पढ़े- 11 साल की उम्र में खरीदे बिटकॉइन, 21 का होते-होते बन गया करोड़पति

वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी के खिलाफ शहर कोतवाली में कुल तीन मुकदमें दर्ज है। एक मुकदमा उन पर तब दर्ज हुआ था, जब वसीम रिजवी ही था। तब रिजवी ने यहां अपनी विवादित पुस्तक का विमोचन प्रेस क्लब संस्था के सभागार में किया था, जिसे लेकर बड़ा विवाद हुआ था। किताब में पैगंबर साहब को लेकर अमर्यादित टिप्पणी की गई थी। फिर  यहां से लौटने के बाद अपना धर्म परिवर्तन कर लेने के बाद रिजवी की नई पहचान जितेंद्र नारायण त्यागी के तौर पर सामने आई थी। पिछले माह दिसंबर में हुई तीन दिवसीय धर्मसंसद में रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी ने एक विशेष वर्ग को लेकर भड़काऊ भाषण दिया था, जिसकी गूंज पूरी दुनिया में सुनाई दी थी। इस संबंध में उनके खिलाफ दो मुकदमें मुस्लिम समाज ने दर्ज कराए थे। 

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.