Goat Farming Loan Scheme:बकरी फार्म प्रोजेक्ट के लिए कैसे मिलेगा लोन,जानिए पूरी जानकारी

google image

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Goat Farming Loan Scheme:बकरी फार्म प्रोजेक्ट के लिए कैसे मिलेगा लोन बेरोजगारी की समस्या को देखते हुए और जनसंख्या वृद्धि को देखते हुए सरकार स्वरोजगार और कृषि क्षेत्र में अपना ध्यान बढ़ा रही है । इसी के तहत सरकार Goat Farming Loan Scheme के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों को व शहरी क्षेत्रों को लोन प्रदान करके देश का तेजी से विकास करना चाहता है । यदि आप बकरी पालन योजना हेतु पत्र तैयार करके इसे स्वीकृति कराके इसका लाभ ले सकते हैं । इसके लिए आपको महत्वपूर्ण दस्तावेज, बकरी पालन प्रोजेक्ट रिपोर्ट पीडीएफ , और अपना पुराना कोई भी प्रशिक्षण जो कि यह बताएं कि बकरी पालन कैसे करें? इन सभी दस्तावेजों को उपयोग करके आप इस लोन योजना का फायदा ले सकते हैं और बकरी पालन से कमाई कर सकते हैं । आगे लेख में हम आपको बताएंगे कि बकरी पालन योजना क्या है, लाभ कैसे प्राप्त होगा, आवेदन प्रक्रिया, आवश्यक दस्तावेज, आदि की जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारा यह लेख अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा।

Goat Farming Scheme

आज के इस लेख में हम आपके लिए बकरी पालन योजना जानकारी लेकर आए हैं। इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले छोटे किसान जो पशुपालन जैसे कार्य करते है, उन सभी का रोजगार बढ़ाने के लिए सरकार ने बकरी पालन योजना की शुरुआत की है। अब आप सभी लोग बकरी पालन जैसे कार्य को भी शुरू कर सकते हैं। इससे पशुपालन जैसे कार्य कर रहे हैं व्यक्तियों की आय में वृद्धि होगी। और साथ-साथ उनका रोजगार भी आगे बढ़ेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले किसानों के साथ साथ जो व्यक्ति बकरी पालन का कार्य शुरू करना चाहते हैं। उन्हें केंद्र सरकार द्वारा लोन उपलब्ध कराया जाएगा।

क्या है इसकी लोन योजना

जैसा कि हमने आपको ऊपर तक में बताया बकरी पालन योजना ग्रामीण क्षेत्रों में उन व्यक्तियों के लिए शुरू की गई है, जोकि पशुपालन के साथ-साथ बकरी पालन का काम भी शुरू करना चाहते हैं, उन सभी व्यक्तियों को केंद्र सरकार की तरफ़ा से भेड़ Goat खरीदने के लिए 400000 रुपए तक का लोन प्रदान कराया जाएगा। वैसे तो ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत से व्यक्ति अपना का व्यापार शुरू करना चाहते हैं लेकिन पैसे की कमी के कारण वह केवल सोचते ही रह जाते हैं जिससे व्यक्ति आगे नहीं बढ़ पाते लेकिन अब सरकार उन सभी व्यक्तियों को जो बकरी पालन जैसे कार्य करना चाहते हैं उन्हें इस बकरी पालन योजना के तहत लोन प्रदान कराए जा रहा है ताकि अधिक से अधिक व्यक्ति अपना रोजगार शुरू कर सकें।

google image

राष्ट्रीय पशुधन मिशन 

National Livestock Mission के अंतर्गत केंद्र सरकार भेड़- बकरी जैसे कार्य करने वालों की आय में बढ़ोतरी करने के लिए इस बकरी पालन योजना को शुरू किया है। इस National Livestock Mission का मुख्य उद्देश्य देश में पशुपालन जैसे कार्य कर रहे किसानों को भी बढ़ावा देना है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार उन व्यक्तियों को जो कि बकरी पालना करना चाहते हैं उन्हें कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करा रही है। राष्टीय पशुधन मिशन के तहत अनके प्रकार की योजनायें है और अलग अलग योजना के तहत सब्सिड प्रदान कराई जाती है।भारत में कई कारणों से बकरी पालन तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। बकरी के दूध (औषधीय गुणों के कारण) और बकरी के मांस की बढ़ती मांग के कारण बड़ी संख्या में किसान बकरी पालन में प्रवेश कर रहे हैं। सरकार और विभिन्न सामाजिक संगठन भी अपनी ओर से बकरी पालन को बेरोजगारी से लड़ने और गरीबी उन्मूलन के साधन के रूप में प्रोत्साहित कर रहे हैं।

लोन के लिए आवेदन करने के लाभ

Goat पालन या बकरी पालन के लिए ऋण लेने के कई उद्देश्य हैं। ऐसे ऋणों के लाभ इस प्रकार हैं:

  • इस तरह के ऋण प्राप्त करने के प्रमुख लाभों में से एक यह है कि व्यक्ति को खेती शुरू करने के लिए एक पूंजी संसाधन मिलता है। पशुपालन फार्म शुरू करने के इच्छुक कई व्यक्तियों के लिए पर्याप्त वित्त की कमी एक बड़ी बाधा है।
  • वर्तमान समय में ऋण प्राप्त करने का अगला लाभ यह है कि कई बैंक पशुपालन के लिए ऋण के साथ-साथ बीमा भी प्रदान करते हैं। इससे पशु फार्म मालिक को अतिरिक्त लाभ और वित्तीय सुरक्षा मिलती है।
  • चूंकि पशु खेत में पूंजी के रूप में कार्य करता है, इसलिए वित्तीय सहायता प्राप्त करके इस पूंजी के निर्माण में निवेश करना बुद्धिमानी है। पशु द्वारा किया गया उत्पादन लंबे समय में ऋण चुकाने के लिए पर्याप्त होगा।
google image

भारत में उपलब्ध बकरी पालन नीतियां और ऋण

विभिन्न राज्य सरकारें बैंकों और नाबार्ड के सहयोग से बकरी पालन को बढ़ाने के लिए सब्सिडी योजनाएं प्रदान करती हैं। यह अत्यधिक लाभदायक और लंबी अवधि में सराहनीय रिटर्न के साथ एक स्थायी प्रकार का व्यवसाय है। व्यक्तियों / समूहों को बकरी पालन व्यवसाय शुरू करने में मदद करने के लिए, विभिन्न वित्तीय संस्थानों द्वारा आकर्षक दरों पर ऋण की पेशकश की जाती है। दिए गए ऋण विभिन्न उद्देश्य हैं जैसे:

  • बकरियों की खरीद
  • उपकरण की खरीद
  • जमीन, चारा आदि खरीदने के लिए
  • शेड आदि बनाने के लिए।
  • भारत में बकरी पालन को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार ने विभिन्न योजनाओं के माध्यम से योगदान दिया है, ऐसी ही एक योजना नाबार्ड के माध्यम से है।

बकरी व भेड़ पालन योजना का उदेश्य

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में जो व्यक्ति बकरी पलना करना चाहते हैं परंतु पैसे की कमी के करना नहीं कर पते उन सभी लोग को रोजगार प्रदान कराने के लिए सरकार लोन उपलब्ध करवा रही है। ताकि लोग बकरी और भेड़ को आराम से खरीद सके। और अपना कारोबार शुरू कर सकें। इस Bakari Palan Scheme के तहत देश के सभी राज्यों में पशुधन को बढ़ावा देना है। अब आप सभी लोग योजना के तहत आवेदन करके बकरी फार्म के लिए लोन ले सकते हैं।

google image

goat rearing scheme के मुख्य बिंदु

लेखबकरी पालन योजना
 शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
 लाभार्थीदेश के सभी किसान
 वर्ष2022
 लोनचार लाख रुपये
 उदेश्यदेश के लोगो को रोजगार प्रदान करना
 आवेदनप्रक्रिया ऑनलाइन
ऑफलाइनआवेदन फॉर्म PDF Download 
 ऑफिसियल वेबसाइटयहां क्लिक करें

सामान्य जाति वर्ग के लिए सब्सिडी

सामान्य जाति वर्ग के लिए 50 प्रतिशत अनुदान राशि का भुगतान दो किश्तों में कराया जाता है । 20 बकरी 1 बकरा क्षमता के लिए सब्सिडी 40 प्रतिशत यानि 40,000 रुपए का भुगतान आधारभूत संरचना के बाद दिया जाएगा। दूसरी किश्त बकरी क्रय के बाद 60 प्रतिशत का भुगतान किया जाएगा जो 60,000 रुपए रहेगा। इसी प्रकार 40 बकरी तथा 2 बकरा के लिए सामान्य जाति वर्ग के आवेदक को प्रथम किश्त में 40 प्रतिशत यानि 80,000 रुपए आधारभूत संरचना के बाद दिया जाएगा। द्वितीय किश्त आवेदक के द्वारा बकरी खरीदने के बाद 60 प्रतिशत यानि 1,20,000 रुपए का भुगतान कराया जाता है।

अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए सब्सिडी

अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए 60 प्रतिशत अनुदान राशि का भुगतान दो किश्तों में किया जाएगा। 20 बकरी 1 बकरा क्षमता के लिए सब्सिडी 40 प्रतिशत यानि 48,000 रुपए का भुगतान दिया जाएगा। दूसरी किश्त बकरी क्रय के बाद 60 प्रतिशत का भुगतान किया जाएगा। जो 72,000 रुपए रहेगा। इसी प्रकार 40 बकरी तथा 2 बकरा के लिए अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के आवेदक को प्रथम किश्त में 40 प्रतिशत यानि 96,000 रुपए आधारभूत संरचना के बाद दिया जाएगा। दूसरी किश्त आवेदक के द्वारा बकरी खरीदने के बाद 60 percent यानि 1,44,000 रुपए का भुगतान कराया जाता है।

Goat farming business plan

आप सभी लोग जानते होंगे कि बकरी पालन एक ऐसा व्यवसाय है , अगर आप लोग कम जमा पूंजी में 10 से 12 बकरिया लेते हैं तो आने वाले टाइम में आपस का डबल बकरियां हो जाती है , इससेआपको अधिक मुनाफा मिलेगा और आप उन्हें बेचकर फिर कम बकरियों ले सकते हैं और फिर उन्हें बेचकर अपना आगे का कारोबार कर सकते हैं , बकरी पालन एक बहुत ही अच्छा व्यवसाय है, कम खर्चे में ज्यादा मुनाफा आप बकरी के पालन में ही कर सकते हैं। बकरी पालन के व्यवसाय से निम्न तरीकों से मुनाफा कमाया जा सकता है।

  • दूध देने वाली बकरियों को बेचकर ।
  • बकरियों को माँस के रूप में बेचकर।
  • ऊन व खाल द्वारा प्राप्त आय से।
  • बकरी की मींगणियों को खाद के रूप में बेचकर।
google image

बकरी पालन लोन कैसे मिलेगा

अगर आप लोग नाबार्ड,बकरी पालन योजना के तहत लोन लेना चाहते हैं, तो आपके पास किसी भी बैंक का एक क्रेडिट अकाउंट होना अनिवार्य है। और आपके बैंक अकाउंट की स्टेटमेंट कम से कम 2 साल की होनी चाहिए। बबकरी और भेड़ पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए आप पहले अपना पैसा भी लगा सकते हैं। और उसके बाद जरूरत पड़ने पर आप इस योजना के तहत आवेदन करके अपने नजदीकी बैंक शाखा जाकर 5 से 10 या 20 भेड एवं बकरी का ऋण कम ब्याज दर पर उठा सकते हैं। इस लोन राशि का भुगतान आप धीरे धीरे कर सकते हैं।

बकरी पालन लोन योजना 2020 के लाभ

  • इस Bakri Palan Yojana का लाभ लेकर आप अपने घर के पास ही खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते है।
  • बकरी पालन योजना के लिए किसी भी प्रकार की आयु सीमा या फिर शैक्षणिक योग्यता नहीं राखी गयी है।
  • बकरी पालन करने के लिए आपको किसी भी व्यक्ति से लोन नहीं लेना पड़ेगा आप योजना के तहत आवेदन करके लोन प्राप्त कर सकते हैं।
  • इसमे कम पैसे लगा कर भी आप अच्छा पैसा कमा सकते है।
  • बकरी के दूध को या फिर उसके मांस इत्यादि को बेचने के लिए आपको दूर जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।
  • सूखा प्रभावित क्षेत्र में खेती के साथ आसानी से किया जा सकने वाला यह एक कम लागत का अच्छा व्यवसाय है
  • जरूरत के समय बकरियों को बेचकर आसानी से नकद पैसा प्राप्त किया जा सकता है।
  • इस व्यवसाय को करने के लिए किसी प्रकार के तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता नहीं पड़ती।
  • यह व्यवसाय बहुत तेजी से फैलता है।
  • बकरी का मांस जनता के बीच बहुत लोकप्रिय है और बकरी पालन व्यवसाय को लाभदायक बनाने की मांग तेजी से बढ़ रही है।
  • बकरियां न्यूनतम रख-रखाव के साथ साल भर खेतों के लिए मांस, दूध, खाद उपलब्ध कराती हैं।
  • बकरियों को पालने के लिए बड़े खेतों की जरूरत नहीं होती, बड़े जानवरों की तुलना में बकरियों को कम जगह की जरूरत होती है।
  • खेतों में चरने और कृषि अपशिष्ट से बकरियों को पालना किफायती हो जाता है।
  • बकरी के दूध में औषधीय गुण होते हैं और दूध की अन्य गुणवत्ता की तुलना में बेहतर दर प्राप्त होती है।
  • बकरियां अन्य जानवरों की तुलना में बेहतर रोग प्रतिरोधी होती हैं
  • बकरियां बहुत तेजी से प्रजनन करती हैं जिससे बकरियों की संख्या बढ़ाने में मदद मिलती है।
google image

Bakari Palan Scheme किन राज्यों में उपलब्ध है

बकरी पालन योजना को केंद्र सरकार के साथ सभी राज्य सरकारें भी बढ़ावा दे रही है । इससे हमारे देश का कृषि के क्षेत्र में तेजी से विकास होगा और ग्रामीण क्षेत्रों का भी विकास होने में तीव्रता आएगी । Bakari Palan Scheme 2022 अब लगभग देश के सभी राज्यों में शुरू कर दिया गया है, इस योजना के तहत मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, ओडिशा, झारखंड, आसाम और अन्य कई राज्यों में भी सरकार ने योजनाएं शुरू की । इसके अलावा राज्य सरकारों ने प्रशिक्षण केंद्र भी बनाए हैं और जिस से लोग यह समझते हैं कि बकरी पालन कैसे करें और इस से मुनाफा कैसे कमाए । इस योजना के द्वारा लोन लेने पर सरकार सब्सिडी दी प्रदान करती है और इसके लोन से आप अपना बकरी पालन का शेड इस योजना के तहत बना सकते हैं। और अन्य कई कार्य कर सकते हैं ।

बकरी पालन में समस्याएं

  • बरसात के मौसम में बकरी की देख-भाल करना।
  • बकरी गीले स्थान पर बैठती नहीं है और उसी समय इनमें रोग भी बहुत अधिक होता है।
  • बकरी का दूध पौष्टिक होने के बावजूद उसमें महक आने के कारण कोई उसे खरीदना नहीं सकता ।
  • बकरी को रोज़ाना खुले जगह में लेके जाना पड़ता है।
  • परिवार में एक व्यक्ति को बकरी की देख-रेख के लिए रहना पड़ता है।

Bakri Palan Yojana के लिये आवश्यक दस्‍तावेज

आवास प्रमाण पत्र जाति प्रमाण पत्र
 आधार कार्ड भूमि मालिकाना  प्रमाणपत्र
 बैंक पासबुकआय प्रमाण
 पैन कार्ड पहचान पत्र
 फोटो  मोबाइल नंबर

बकरी पालन योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

बकरी पालन योजना में आवेदन कैसे करें? इसके लिए दी गई प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें:-

  • सबसे पहले आवेदक को Bakri Palan Loan Yojana में आवेदन करने के लिए अपने नजदीकी पशु चिकित्सक कार्यालय में जाना होगा।
  • कार्यालय में पहुंचने के बाद आपको अधिकारी से योजना का आवेदन फॉर्म PDF लेना होगा।
  • उसके बाद आवेदन फॉर्म प्राप्त करके एक बार फॉर्म को अच्छे से पढ़ लेना है।
  • सभी प्रकार की जानकारी पढ़ने के बाद आपको दी गयी जानकारी भरनी होगी।
  • सभी प्रकार की जानकारी भर जाने के बाद आपको अपने सभी आवश्यक दस्तावेजों की कॉपी को भरे हुए आवेदन पत्र के साथ अटैच करके जहां से आप आवेदन फॉर्म लाए थे वही जमा करना होगा।
  • उसके बाद आपके आवेदन फॉर्म और सभी आवश्यक दस्तावेजों को जांचने के बाद अधिकारी द्वारा आपसे संपर्क किया जाएगा।
google image

आवेदन की स्थिति कैसे चेक करें

यदि अपने बकरी पालन लोन योजना के आवेदन किया है और अब आप आवेदन का स्टेट्स देखन चाहते है, तो आपको नीचे दिए गए आसान से चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको आवेदन की स्थिति देखने के लिए बकरी पालन लोन योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने एक वेप पेज ओपन हो जाएगा।
  • इसके बाद आपको इस वेप पेज पर View Status of your application का एक विकल्प दिखाई देगा। आपको इस पर क्लिककर देना है।
  • क्लिक करने के साथ ही आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको इस नए पेज पर आवेदन स्टेट्स देखने के लिए एक एप्लीकेशन फॉर्म खुलेग जिसमे आपको रजिस्ट्रेशन नंबर भरना होगा।
  • एप्लीकेशन नंबर दर्ज करने के बाद सम्मिट के बटन पर जाकर क्लिक कर देना है। के बाद आपके सामने आवेदन की स्थिति की जानकारी ओपन होकर आ जाएगी।
  • इस प्रकार से आप आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

बकरी पालन योजना में लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • यदि आप बकरी पालन लोन योजना में लॉगिन करना चाहते है ,इसके लिए आपको पहले ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलेग।
  • इस वेप पेज पर आपको Login का एक विकल्प दिखाई देगा। आपको इस फॉर्मेट में Aadhaar card number और password दर्ज करना है।
  • पूछी गयी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको नीचे बॉक्स में Login करें के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप लॉगइन कर पाएंगे।

बकरी पालन योजना ग्रामीण क्षेत्रों में ऑफलाइन आवेदन कैसे करें

  • यदि आप इस योजना में आवेदन करके लोन प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको पहले योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा। या आप अपने नजदीकी ग्राम पंचायत या ब्लॉक कार्यालय में जाकर आवेदन फॉर्म ले सकते हैं।
  • योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको सभी जानकारी दर्ज करनी होगी और उसके बाद अपने सभी आवश्यक दस्तावेजों की कॉपी को भरे हुए आवेदन पत्र के साथ लगा कर। ब्लाक प्रमुख या ग्राम पंचायत में जाकर जमा करवाना होगा।
  • उसके बाद आपके सभी आवश्यक दस्तावेज और आवेदन फॉर्म की जांच की जाएगी। और उसके बाद आपको योजना के तहत लोन दिया जाएगा।

बकरी पालन के लिए नाबार्ड ऋण

बकरी पालन के लिए बहुत ही आकर्षक दरों पर ऋण उपलब्ध कराने में नाबार्ड सबसे आगे है। यह विभिन्न वित्तीय संस्थानों के सहयोग से उधारकर्ताओं को ऋण प्रदान करता है जैसे:

  • वाणिज्यिक बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • शहरी बैंक
  • अन्य जो नाबार्ड से पुनर्वित्त के लिए पात्र हैं
google image

इस योजना के तहत, एक उधारकर्ता बकरियों की खरीद पर खर्च किए गए धन का 25-35% सब्सिडी के रूप में प्राप्त करने का हकदार है। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति समुदाय के लोग और बीपीएल श्रेणी के लोग 33 प्रतिशत तक सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं, जबकि ओबीसी से संबंधित अन्य लोगों को 25 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाती है, जिसकी अधिकतम राशि रु. 2.5 लाख।

बकरी पालन के लिए नाबार्ड ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया

  1.  किसी भी स्थानीय कृषि बैंक या क्षेत्रीय बैंक में जाएँ और नाबार्ड में बकरी पालन के लिए आवेदन पत्र भरें।
  2.  नाबार्ड से सब्सिडी प्राप्त करने के लिए अपनी व्यवसाय योजना प्रस्तुत करना आवश्यक है। योजना में बकरी पालन परियोजना के बारे में सभी प्रासंगिक विवरण शामिल होने चाहिए।
  3.  नाबार्ड से अनुमोदन प्राप्त करने के लिए व्यवसाय योजना के साथ आवेदन पत्र जमा करें।
  4.  एक तकनीकी अधिकारी ऋण और सब्सिडी की मंजूरी से पहले खेत का दौरा करेगा और पूछताछ करेगा।
  5.  ऋण राशि स्वीकृत की जाती है और धन उधारकर्ता के खाते में स्थानांतरित कर दिया जाता है। यह रेखांकित करना महत्वपूर्ण है कि ऋण राशि परियोजना लागत का केवल 85% (अधिकतम) है। लागत का 15% उधारकर्ता को वहन करना होगा।

बकरी पालन बैंक लोन के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट डाउनलोड करें

बैंक लोन लेने के लिए आपको प्रोजेक्ट रिपोर्ट की आवश्यकता होती है। बैंक आपके प्रोजेक्ट को देखकर ही यह बता सकता है कि आपको इसमें मुनाफा होगा या नुकसान और तभी बैंक आपको उसमें लोन देता है।

Volodymyr Zelensky : राजधानी कीव छोड़कर भागे यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमीर जेलेंस्की!

Rashifal : 27 फरवरी को सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का राशिफल

Vijaya Ekadashi 2022: विजया एकादशी का व्रत रखते समय इन उपाय को करने पर होगा लाभ, आएगी सुख समृद्धि

Hathi Ki Murti Ke Fayde: घर में हाथी की मूर्ति रखने पर होने लगेंगे चमत्कार, जीवन में होगी पैसों की बरसात

भांजा-भांजी संग Salman Khan ने किया डांस, दबंग टूर के स्टेज से वायरल हुआ वीडियो

Business – इस बिजनेस को शुरू करने के लिए देती है सरकार पैसा, होगी लाखों की कमाई

Periods का दर्द तुरंत होगा गायब बस कर लें छोटा सा ये काम…

2022 Maruti Suzuki Ertiga के लिए हो जाए तैयार! धाकड़ लुक और दमदार फीचर्स के साथ होली में दे रही दस्तक

 Ambani-Adani news- Ukraine पर रूस का हमला और अंबानी-अडानी के 88 हजार करोड़ का लगा झटका 

PreviousRashifal : 27 फरवरी को सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का राशिफल

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.