Saturday, January 28, 2023
Homeधर्मGoat Farming: किसानों को बकरी पालन करने के लिए सरकार दे रही...

Goat Farming: किसानों को बकरी पालन करने के लिए सरकार दे रही है लोन,जानिए कैसे करे ऑनलाइन आवेदन

Goat Farming:भारतीय केंद्र सरकार की राष्ट्रीय पशुधन मिशन योजना वर्ष 2022-23 से स्वीकृत है। 27 दिसंबर 2021-2022 को कैबिनेट की बैठक में यह बेहद अहम फैसला लिया गया है| इस फैसले में केंद्र सरकार बकरियों, भेड़ों और मुर्गियों के लिए 50 लाख रुपये की सब्सिडी देगी

photo by google

Goat Farming:बकरी पालन एक ऐसा व्यवसाय है जिसे बहुत ही कम पैसे से शुरू किया जा सकता है और इससे बहुत अधिक लाभ मिल सकता है। यानी लागत कम और मुनाफा ज्यादा। आज बकरी पालन ग्रामीण क्षेत्रों तक ही सीमित नहीं है। अब बकरी पालन का व्यवसाय शहरों में व्यापक हो गया है। इस बिजनेस के लिए कई बैंक लोन देते हैं। इसके लिए आपको एक प्रोजेक्ट बनाना होगा। बैंक आपको उस प्रोजेक्ट के आधार पर लोन देता है। मीडिया में जारी खबर में यह बताया जा रहा है

Goat Farming: किसानों को बकरी पालन करने के लिए सरकार दे रही है लोन,जानिए कैसे करे ऑनलाइन आवेदन

Goat Farming
photo by google

बिजनेस के दृष्टि से देखे तो

Goat Farming:इस बिजनेस को बड़े पैमाने पर शुरू करने के लिए केंद्र सरकार से 25 लाख रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है. बता दें कि बकरी पालन का बिजनेस सिर्फ दूध का ही नहीं बल्कि इसके मांस का भी है। बकरी के मांस की मांग उसके दूध से कई गुना ज्यादा है। आज बकरी पालन कम लागत का साधन बनता जा रहा है।

photo by google

Goat Farming Subsidy (बकरी पालन सब्सिडी)

Goat Farming:केंद्र सरकार बकरी और भेड़ पालन के लिए 50 लाख रुपये की सब्सिडी देगी। साथ ही मुर्गी पालन के लिए 25 लाख रुपए की सब्सिडी दी जाएगी। वहीं केंद्र सरकार ने सुअर पालन के लिए 30 लाख रुपये की सब्सिडी देने का अहम फैसला किया है. इस योजना के लिए आपको व्यक्तिगत रूप से आवेदन करना होगा। इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू कर दिया गया है।

योजना के लिए क्या जरूरी दस्तावेज हैं

फ़ोटो
आधार कार्ड
पैन कार्ड
चेक रद्द करे
निवासी प्रमाण
परियोजना प्रस्ताव
अनुभव प्रमाणपत्र
इनकम टैक्स रिटर्न
भूमि दस्तावेज
जीएसटी नंबर

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments