आरोपी चला रहा था ऑटो,बंगाली डॉक्टर बनकर पकड़ने पहुची पुलिस, ऐसे हुआ खुलासा

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज़। बैतूल में दाेगुना रुपए का झांसा देकर ठगी करने वाले चिटफंड कंपनी के शाखा प्रबंधक को कोलकाता से गिरफ्तार किया है। शाहपुर पुलिस जब बंगाली डॉक्टर बनकर आरोपी को पकड़ने पहुंची तो वह कोलकाता से 200 किमी दूर ऑटो चलाते हुए मिला। आरोप है कि इसने एक कंपनी के नाम पर लोगों को एक करोड़ से ज्यादा की चपत लगाई।

बैतूल के शाहपुर थाने में कोलकाता के पटासपुर निवासी शंकर भूनिया, आशीष भट्टाचार्य, मृत्युंजय शाह के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला 27 अक्टूबर 2021 को दर्ज किया गया था। पुलिस ने खुद को शाखा प्रबंधक बताने वाले शंकर भूनिया को कोलकाता के महेंद्रपुर जिले के पटासपुर से गिरफ्तार किया है।

शाहपुर थाना इलाके के बाचा गांव की 8 से 10 महिलाओं और एक ढाबा संचालक ने शाहपुर शिकायत की थी कि संध्या कृषि मल्टीपरपज को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड 2-5 हजार रुपए तक की राशि हर महीने जमा करवा रही थी। कंपनी ने इस रकम को 3 साल में दोगुना करने को कहा था। साखा प्रबंधक शंकर भुनिया और एजेंट रामा निवासी पाढर ने इसके नाम पर लाखों रुपए की वसूली क

मामले में पुलिस ने कंपनी के शाखा प्रबंधक शंकर भूनिया, एमडी आशीष भट्टाचार्य और सीएमडी मृत्युंजय शाह के खिलाफ 420 का मामला दर्ज किया। साथ ही 30 से 35 ग्रामीणों ने बैतूल की अदालत में निजी रूप से इस्तगासा भी पेश किए है।

कोलकाता पहुंचे एएसआई अजय भट्ट ने बताया कि आरोपी शंकर का पहले पुराना नंबर ट्रेस किया गया। साइबर की मदद से नई सिम का पता लगाया गया और फिर जमीन का ग्राहक बनकर उससे बात की गई। इसके लिए एक सिपाही को बंगाली डॉक्टर बनाया गया और उससे लगातार बात करते हुए आरोपी तक कोलकाता पहुंचा गया।


खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *