सिंधिया पर दिग्विजय जमकर बरसे: एक व्यक्ति गद्दारी करता है तो पीढ़ियां भी यही करती हैं

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

गुना. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बड़ा आरोप लगाया। उन्होंने कहा- इतिहास गवाह है कि एक व्यक्ति गद्दारी करता है, तो उसकी पीढ़ी दर पीढ़ी गद्दारी करती है। दिग्विजय 4 दिसंबर को मधुसूदनगढ़ के कार्यक्रम में पहुंचे थे। कल ही सिंधिया भी दिग्विजय के गढ़ राघौगढ़ पहुंचे थे।‘सिंधिया 25-25 करोड़ ले गए’

दिग्विजय ने आगे ये भी कहा- कांग्रेस की सरकार (Congress Govt) तो बन गई थी। सिंधिया जी छोड़कर चले गए और एक-एक विधायक के 25-25 करोड़ रुपए ले गए। अरे, कांग्रेस के साथ गद्दारी कर गए, इसका मैं क्या करूं। किसने सोचा था। जनता ने तो कांग्रेस की सरकार बनवा दी थी। इतिहास इस बात का साक्षी है। एक व्यक्ति गद्दारी करता है, तो उसकी पीढ़ी दर पीढ़ी गद्दारी पे गद्दारी करती है। तो सोच समझ के गद्दारी करना।

दिग्विजय के इस बयान को सिंधिया की आमसभा के पलटवार के रूप में देखा जा रहा है। सिंधिया ने 4 दिसंबर को पहली बार दिग्विजय के गृहनगर राघौगढ़ में सभा की। इससे पहले वह केवल एक बार किले पर पहुंचे थे, जब जयवर्धन सिंह ने उन्हें खाने पर बुलाया था। हालांकि, सिंधिया ने सभा में अपने भाषण के दौरान एक बार भी ना तो दिग्विजय सिंह का नाम लिया और ना ही जयवर्धन सिंह का।पंचायत चुनाव में आरक्षण पर उठाए सवाल

दिग्विजय सिंह राजगढ़ भी गए। यहां उन्होंने पंचायत चुनाव के रिजर्वेशन सिस्टम पर सवाल उठाए। उन्होंने आचार संहिता को भी कानूनी तौर पर गलत बताया। रोटेशन प्रणाली पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि जो सीट महिलाओं के लिए आरक्षित थी, वही फिर से है, एक तिहाई सीटों पर महिलाओं के लिए रिजर्वेशन में बदलाव किया जाना था।सभा करने मधुसूदनगढ़ पहुंचे थे दिग्विजय

दिग्विजय सिंह 4 दिसंबर को मधुसूदनगढ़ के रघुनाथ गांव पहुंचे थे। पार्वती नदी पर बनने वाले बांध में यह गांव डूब क्षेत्र में जा रहा है। इस सिलसिले में वह ग्रामीणों से मुलाकात करने पहुंचे थे। आमसभा में मांग की गई कि जिन किसानों की जमीन डूब में जा रही है, उन्हें सरकारी रेट से 4 गुना ज्यादा मुआवजा दिया जाए।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *