Tuesday, February 7, 2023
Homeराष्‍ट्रीयCorona Virus कोरोना: कितना खतरनाक है नया सेंटोरस वेरिएंट, 20 देशों में...

Corona Virus कोरोना: कितना खतरनाक है नया सेंटोरस वेरिएंट, 20 देशों में फैल चुका यह वायरस

Corona Virus राहत की बात यह है कि मजबूत इम्यूनिटी के चलते भारत समेत तमाम देशों में इसका प्रभाव कम नजर आ रहा है। संक्रमण में तेजी के बावजूद अस्पताल में भर्ती होने की दर नहीं बढ़ी है।
Corona Virus
Corona Virus

Corona Virus भारत के कई शहरों में कोरोना के बढ़ते केसों के बीच वैज्ञानिकों को आशंका है कि ओमिक्रॉन का सब वेरिएंट ‘सेंटोरस’ अगला वैश्विक कोरोना वेरिएंट हो सकता है। इसकी वजह यह है कि यह अब तक करीब 20 देशों में फैल चुका है। इसका प्रसार बेहद तेज है। लेकिन राहत की बात यह है कि मजबूत इम्यूनिटी के चलते भारत समेत तमाम देशों में इसका प्रभाव कम नजर आ रहा है। संक्रमण में तेजी के बावजूद अस्पताल में भर्ती होने की दर नहीं बढ़ी है।

Corona Virus कोरोना: कितना खतरनाक है नया सेंटोरस वेरिएंट

Corona Virus ओमिक्रॉन का ही एक नया सब वेरिएंट
दरअसल, नेचर जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, सेंटोरस यानी बीए. 2.75 पर वैज्ञानिक निगाह रखे हुए हैं। यह ओमिक्रॉन का ही एक नया सब वेरिएंट है जिसके मामले जुलाई में भारत में तेजी से बढ़ने शुरू हुए थे और उसके बाद एशिया और यूरोप समेत 20 देशों में इसका फैसला हो चुका है। रिपोर्ट के मुताबिक भारत में मई से लेकर अब तक एक हजार नमूनों की जीनोम सिक्वेंसिंग की गई थी जिनमें से दो तिहाई मामले बीए 2.75 के थे।

दोबारा संक्रमण की कितनी आशंका
इसके बाद सर्वाधिक मामले बीए-5 के थे जबकि शेष मामले ओमिक्रॉन के अन्य सब वेरिएंट के थे। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि बीए 2.75 के मामले दिल्ली में भी सर्वाधिक पाए गए हैं। लेकिन अब यह स्थिरता की ओर बढ़ते नजर आ रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार बीए 2.75 में एक म्यूटेशन ए452आर है जिससे दोबारा संक्रमण की आशंका बढ़ती है। 

Corona Virus हाइब्रिड इम्यूनिटी के कारण कम प्रभाव
कुछ वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि यह अगले वैश्विक वेरिएंट के रूप में उभर रहा है लेकिन कुछ वैज्ञानिकों का यह भी मानना है कि हाइब्रिड इम्यूनिटी के कारण इसका ज्यादा प्रभाव नहीं दिखेगा। हाइब्रिड इम्यूनिटी का मतलब संक्रमण से उत्पन्न इम्यूनिटी के साथ-साथ टीकाकरण से भी इम्यूनिटी हासिल करना है।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वायरोलाजिस्ट शाहिज जमील के अनुसार ज्यादातर जगहों पर बीए. 2.75 कोई नई लहर पैदा करेगा। हम उस बिंदु पर आ रहे हैं जहां ये वेरिएंट एक-दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं और वे लगभग बराबर हैं। इसलिए जिन लोगों को बीए-5 का संक्रमण हुआ है, उन्हें बीए 2.75 का संक्रमण होने की संभावना नहीं है। Corona Virus

कैसे उत्पन्न हुआ सेंटोरस वेरिएंट
ओमिक्रॉन से दो सब वेरिएंट बीए-1 तथा बीए-2 बने। बीए-1 से आगे कोई सब वेरिएंट नहीं बना जबकि बीए-2 से चार सब वेरिएंट फिर उत्पन्न हुए। इनमें बीए 4, बीए 5, बीए 2.12-1 तथा अब बीए 2.75 बना है। अल्फा, गामा, बीटा का कोई सब वेरिएंट ज्ञात नहीं है। जबकि डेल्टा का सब वेरिएंट डेल्टा प्लस है। Corona Virus

https://anokhiaawaj.in/reliance-jio-plan-offer-on-the-occasion-of-india/

Mahindra Scorpio: नई Scorpio Classic की बाजार में जबरदस्त धूम, देखें खूबसूरत फोटो

लाल सिंह चड्ढा की ठग्स ऑफ हिंदोस्तान से भी बुरी हालत, क्या चीन में चमकेगी किस्मत?

Mangal Rashi 2022 :– मंगल का मेष राशि से वृष में हुआ प्रवेश, इन राशियों के लिए पूरी जानकारी

Aaj Ka Panchang: पंचाग के अनुसार जानिए किस मुहूर्त में करें गणपति की आराधना, जिससे मिले मनचाहा फल

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments