अपने दम पर गोवा नहीं जीत सकती कांग्रेस, हमें भी लें साथ नहीं तो 10 सीट मिलना भी मुश्किल :कहा शिवसेना ने

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज :गोवा विधान सभा देश की एकसदनीय विधायिका है। इसमें कुल 40 सदस्य  हैं। वर्तमान में यहां एनडीए की सरकार चल रही है। 14 फरवरी को यहां चुनाव होने हैं।

कांग्रेस 30 सीटों पर लड़े चुनाव बाकी 10 अपने सहयोगियों को दे: राउत
राउत ने कहा कि हमने गोवा कांग्रेस प्रभारी दिनेश गुंडुराव, सीएलपी नेता दिगंबर कामत और गोवा कांग्रेस प्रमुख गिरीश चोडनकर के साथ एक दौर की चर्चा की थी और हमने एक प्रस्ताव रखा था कि कांग्रेस 40 विधानसभा सीटों में से 30 पर चुनाव लड़े और अपने सहयोगियों के लिए छोड़ दें।  राउत ने कहा कि 10 विधानसभा सीटें, जहां कांग्रेस ने पिछले 50 वर्षों में चुनाव नहीं जीता है, शिवसेना, एनसीपी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी को आवंटित की जा सकती हैं।


पता नहीं गोवा कांग्रेस क्या सोचकर अकेले लड़ रही है: राउत
गोवा में कांग्रेस के केवल तीन विधायक हैं। पार्टी के विधायकों ने इसे सामूहिक रूप से छोड़ दिया है। प्रमुख राजनीतिक दलें शिवसेना और एनसीपी ने कांग्रेस को उसके कठिन समय में समर्थन देने की पेशकश की थी। लेकिन मुझे नहीं पता कि कांग्रेस क्या सोच रही है।

गोवा विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र गठबंधन के प्रयोग को दोहराने के अपने प्रस्ताव पर कांग्रेस द्वारा कोई जवाब नही मिलने से शिवसेना नाराज हो गई है। शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को कहा कि गोवा की राजनीतिक स्थिति ऐसी है कि अगर कांग्रेस अपने दम पर तटीय राज्य में विधानसभा चुनाव लड़ती है तो वह 10 सीटें भी नहीं जीत सकती है।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.