CM योगी का छात्रों को टैबलेट-स्मार्टफोन का तोहफा, बोले- गरीब बच्चों के स्मार्टफोन का खर्चा उठाएगी हमारी सरकार

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

गोरखपुर। आज उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में कहा कि, ‘हम छात्र-छात्राओं को स्मार्टफोन और टैबलेट उपलब्ध करा रहे हैं। बहुत सारे गरीब बच्चों के मां-बाप टैबलेट और स्मार्टफोन का खर्चा उठाने में संकट होगा। सरकार डिजिटल एक्सेस के तहत टैबलेट-स्मार्टफोन के चलाने के खर्च को उन बच्चों को उपलब्ध कराएगी।

आवास योजना के तहत 20 हजार रुपए

Read Also….इन कारणों से ओवरहीट होता है कार का इंजन, जानें कैसे करें बचाव

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और बांग्लादेश से जिन हिंदुओं को निकाला गया था, जो मेरठ में दशकों से रह रहे थे, उनको अपना आवास या जमीन नहीं मिल पाई थी. ऐसे 63 बंगाली हिंदू परिवारों को हमने कानपुर देहात में प्रति परिवार दो एकड़ भूमि और 200 वर्ग गज भूमि मकान बनाने के लिए उपलब्ध करवाई है. साथ ही उन्हें मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत प्रति परिवार एक लाख 20 हजार रुपए भी उपलब्ध कराए हैं.

सीएम योगी ने यह भी कहा कि अतिक्रमण से मुक्त कराई गई जमीन से प्रदेश में एक ‘लैंड बैंक’ बना है. जिन गरीबों के पास अपना कोई मकान या जमीन नहीं है उन्हें भी इस जमीन से भूमि आवंटित की जाती है. उन्होंने कहा कि इसके अलावा इसी भूमि पर सरकार अपना उद्योग लगा सकती है, स्कूल बना सकती है और तमाम प्रकार के अन्य कार्यक्रम कर सकती है. योगी ने इस मौके पर 57 नायब तहसीलदारों, राजकीय महाविद्यालयों के 141 प्रवक्ताओं और 69 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र प्रदान किए.

वहीं वाराणसी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने काशी विश्वनाथ मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दीर्घायु की कामना के लिए पूजा-अर्चना की. उन्होंने कहा कि सदैव बाबा की कृपा प्रधानमंत्री जी पर बनी रहे और उनका मार्गदर्शन पूरे भारतवासियों को निरंतर प्राप्त होता रहे. वहीं सीएम योगी श्री काल भैरव मंदिर, वाराणसी में भी दर्शन-पूजन के लिए पहुंचे.

डिजिटल एक्सेस भी उपलब्ध कराएगी सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि दो प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराएंगे। एक टैबलेट और स्मार्टफोन जो हम देंगे इनमें केवल टैबलेट और स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं होगा, बहुत सारे गरीब बच्चे ऐसे होंगे जिनके माता-पिता के सामने इसका खर्चा उठाने में हो सकता है उनके सामने संकट हो। इसलिए सरकार ने तय किया है कि टैबलेट के साथ-साथ डिजिटल एक्सेस यानी जितना उसका खर्चा आता है उस खर्चें को भी सरकार बच्चों को उपलब्ध कराने का कार्य करेगी। दूसरा सरकार ने यह भी तय किया है कि अच्छा कंटेंट हम इसके साथ जोड़कर बच्चों को उपलब्ध कराएंगे और दुनिया की सबसे अच्छी जो कंपनियां हैं उनको हम जोड़ रहे हैं। जो संबंधित छात्रों को जो डिग्री कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र होंगे उनको डिग्री कॉलेज के पाठ्यक्रम, उत्तर प्रदेश के विश्वविद्यालय से जुड़े हुए जो पाठ्यक्रम होंगे व जो तकनीकी संस्थाओं से जुड़े होंगे और जो मेडिकल से जुड़े पाठ्यक्रम होंगे सब उपलब्ध कराया जाएगा।

सीएम ने कहा कि आज गोरखपुर से जुड़ी बहुत सारी परियोजनाएं हैं, इसमें पूर्व के भी हैं, सड़कों के निर्माण के लिए भी हैं और साथ-साथ यहां पर तमाम योजनाएं हैं जो पर्यटन व विकास से जुड़ी हुई हैं, चिकित्सालय से जुड़ी हुई हैं और स्वास्थ्य से जुड़ी हुई हैं। जिनका लोकार्पण और शिलान्यास हो रहा है। सीएम ने कहा कि एक नया इंस्टीट्यूट हम गोरखपुर को देने जा रहे हैं और वह है स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट का। होटल मैनेजमेंट का नया इंस्टीट्यूट हम गोरखपुर को दे रहे हैं, जिसकी लागत 16 करोड़ रुपये है और इसकी स्थापना गोरखपुर के गीडा में की जाएगी। अगले सत्र से प्रयास होगा कि इस स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट (एसआईएचएम) की स्थापना के साथ यहां स्पेसिफिक कोर्स को पाठ्यक्रम के साथ जोड़ेंगे और युवाओं को अपना सुनहरा भविष्य आगे बढ़ाने का अवसर प्राप्त होगा। 

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *