गणतंत्र दिवस पर सीएम शिवराज की घोषणा, हिंदी भाषा में शुरू होंगे यह पाठ्यक्रम

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

इंदौरः गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक और बड़ी घोषणा की है. अब मध्य प्रदेश में इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज की पढ़ाई हिंदी में भी कराई जाएगी. सीएम शिवराज ने खुद इंदौर में इस बात का ऐलान किया है. सरकार के इस ऐलान से इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्रों को फायदा होगा. 

जल्द शुरू होगी पढ़ाई 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि  ‘एमबीबीएस पाठ्यक्रम, नर्सिंग और अन्य पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों में हिंदी माध्यम कैसे शुरू किया जाए, यह तय करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया जाएगा, ताकि प्रदेश के छात्र हिंदी में भी इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज की पढ़ाई कर सके. हालांकि कोर्स की शुरूआत कब से होगी इसको लेकर जानकारी अभी स्पष्ट नहीं है.

बता दें कि इससे पहले प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने भी इस बात की जानकारी दी थी. हिंदी ग्रंथ अकादमी की वार्षिक कार्यसमिति की बैठक में उन्होंने कहा था कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लागू होने के बाद अकादमी का दायित्व बढ़ गया है. मातृभाषा में पढाई को प्रोत्साहित किए जाने से अकादमी के कार्यों का विस्तार होगा. प्रदेश के निजी विश्वविद्यालयों और हिन्दी विश्वविद्यालय के समन्वय से मेडिकल की पुस्तकों को हिन्दी में प्रकाशित किया जाएगा. जल्द ही कॉलेजों में इसकी शुरूआत की जाएगी. 

IOCL Recruitment 2022: IOCL में इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, 12वीं, ग्रेजुएट करें अप्लाई

MP Police Constable Recruitment Exam 2021-2022:एमपी पुलिस कांस्टेबल 6000 पदों भर्ती

Coast Guard West Region Recruitment 2022:कोस्ट गार्ड में सिविलियन कैटेगरी के पदों पर नौकरियां


मंत्री विश्वास सारंग ने भी हिंदी दिवस पर इस बात की जानकारी दी थी. उन्होंने कहा था कि छात्रों को मातृभाषा में पढ़ाई करने का मौका मिलना चाहिए, इसके लिए यह प्रयास किया जा रहा है. चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने कहा था कि अपनी मातृभाषा में पढ़ाई की सुविधा से गरीब, ग्रामीण और आदिवासी पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों का आत्मविश्वास बढेगा इसी सोच के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई अपनी मातृभाषा में करने के प्रावधान किए हैं. उन्होंने कहा कि अंग्रेजी भाषा में पढ़ाई पहले जैसी चलती रहेगी.

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा था कि इसके लिए इसके लिए समिति का गठन किया गया है. जैसे ही समिति की रिपोर्ट आएगी उसके बाद चिकित्सा महाविद्यालयों में अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी पढ़ाई शुरू हो जाएगी. 

सीएम शिवराज ने लगाई मुहर 
दरअसल, अब तक यह घोषणा मंत्रियों ने की थी. लेकिन अब सीएम शिवराज ने भी इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज की पढ़ाई हिंदी में कराए जाने की घोषणा पर मुहर लगा दी है. यानि आने वाले वक्त में अब छात्र इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज की पढ़ाई हिंदी में करते नजर आएंगे. 

यह भी पढ़े-

फटाफट खुलवाएं ये खाता-बैंक खाते में जीरो बैलेंस? फिर भी निकाल सकते हैं 10 हजार रुपये- PM Jan Dhan Yojana

Cucumber : भारत ककड़ी और खीरे का सबसे बड़ा निर्यातक देश बना , 80 हजार रुपये प्रति एकड़ होती है आमदनी

Business Idea : 50 हजार में शुरू करें बढ़िया बिज़नेस, हर महीने होगी लाखों की कमाई, पढिये तरीका

Strawberry Farming Business:इस फल की खेती करने से हो जाएंगे मालामाल,होगा बंपर Profit

singrauli 10 हजार की रिश्वत लेते हेड कांस्टेबल ट्रेप, रीवा लोकायुक्त ने दबोचा

सिंगरौली त्रिमुला इंडस्ट्रीज मामला: कांग्रेस नेता सहित 12 लोगो के खिलाफ नामजद और 60 लोगों पर केस दर्ज

इस दिन होगा भारत-PAK का महामुकाबला, टीम इंडिया के पास बदला लेने का मौका

60 साल आपकी आयु तो फिर मौज, हर महीना मिलेगी इतने हजार रुपये पेंशन

Hair Care Tips: करी पत्ता बालों में लगाने से होती हैं कई समस्याएं दूर, जानें इसके फायदे

PM Kusum Yojana 2022- पाना चाहते है लाभ तो जल्दी करें आवेदन, किसानों के लिए खुशखबरी, फ्री सोलर पंप पाने के साथ लाखों रुपये का होगा मुनाफा

weight gain 2022 : दुबलेपन से है परेशान, तो पढिये 11 चींजे खाने से कैसे बढ़ेगा वजन

MPBSE Admit Card 2022:एमपी बोर्ड परीक्षा के लिए आज जारी होगा एडमिट कार्ड, , यहां से करें डाउनलोड

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें