Monday, January 30, 2023
Homeराष्‍ट्रीयBusiness idea :कड़कनाथ मुर्गी पालन का बिजनेस कर कर महीने कमा सकते...

Business idea :कड़कनाथ मुर्गी पालन का बिजनेस कर कर महीने कमा सकते है ,लाखो रूपये

Business idea :लाखो रूपये कमाने का आसान बिज़नेस कड़कनाथ मुर्गी पालन, जाने किस तरह से करना होगा मुर्गी पालन कड़कनाथ मुर्गी पालन की बड़ी डिमांड, इस तरह लाखो रूपये कमा सकते है कड़कनाथ बिजनेस से, बस इस तरह से करना होगा यह बिजनेस, सेहत बनाने के शौकीन युवाओं को इन दिनों कड़कनाथ मुर्गा काफी भा रहा है। इसी वजह से कड़कनाथ मुर्गी के अंडे 25 रुपये में भी खूब बिक रहे। इस प्रजाति के मुर्गों का मांस और अंडों की मांग बढ़ रही हैं

कड़कनाथ मुर्गी का एक अंडा 25 रुपये में बिकता है (An egg of Kadaknath hen is sold for Rs 25.)

Business idea
photo by google

Business idea :सेहत बनाने के शौकीन युवाओं को इन दिनों कड़कनाथ मुर्गा काफी भा रहा है। इसी वजह से कड़कनाथ मुर्गी के अंडे 25 रुपये में भी खूब बिक रहे हैं। इस प्रजाति के मुर्गों का मांस और अंडों की मांग को देखते हुए लोग इसके पालन में भी रुचि ले रहे हैं। मुरादाबाद के मनोहरपुर स्थित कृषि प्रशिक्षण केंद्र में इन मुर्गों को प्रदर्शन के तौर पर पाला जा रहा है और पालन के गुर भी सिखाए जा रहे हैं।

25 से 27 फीसदी प्रोटीन के कारन जिम जाने वाले युवा कड़कनाथ के अंडे डाइट में लेना पसंद करते है

photo by google

Business idea :कड़कनाथ का पालन करके किसान साइड बिजनेस के रूप में अच्छी कमाई कर सकते हैं। मस्कुलर काया के शौकीन युवा इससे मिलने वाले प्रोटीन को बेहतर बता रहे हैं। कड़कनाथ का मीट काले रंग का होता है और अंडा भूरा। इसमें 25 से 27 फीसदी तक प्रोटीन बताया जाता है। जिम ट्रेनर सैफ बताते हैं कि जिम में मेहनत करने वालों को प्रोटीन की ज्यादा जरूरत होती है। तमाम युवा सप्लीमेट के स्थान पर कड़कनाथ की ओर रुख कर रहे हैं। अभी इसकी उपलब्धता कम हैं। पर यह खासा पसंद किया जा रहा है। जिम जाने वाले युवा कड़कनाथ के अंडे डाइट में लेना पसंद करते है।

आमदनी बढ़ाने के लिए कड़कनाथ मुर्गे का पालन बिज़नेस स्थापित कर सकते है 

photo by google

Business idea :बाजार में मांग को देखते हुए लोग कड़कनाथ मुर्गे का पालन करके आमदनी बढ़ाने के लिए कारोबार स्थापित करने में जुटे हैं। मनोहरपुर स्थित कृषि प्रशिक्षण संस्थान में डा. दीपक मेंहदीरत्ता ने बताया कि उन्होंने प्रदर्शन के तौर पर कड़कनाथ का पालन किया है। तमाम लोग जानकारी लेने पहुंच रहे हैं। कड़कनाथ दर असल मध्य प्रदेश के आदिवासी इलाके से आई प्रजाति है जो फैट से कम और प्रोटीन में काफी रिच है। डायबिटीज और हृदय रोगियों के लिए भी यह मुफीद है। कई लोगों ने उनके यहां से चूजे लेकर पालन शुरू कर दिया है।

अन्य मुर्गो के मुक़ाबले कड़कनाथ मुर्गे में रहते है ज्यादा पौष्टिक तत्व 

photo by google

तत्व कड़कनाथ अन्य मुर्गा

प्रोटीन 25 से 27 प्रतिशत 18 से 20 प्रतिशत

फैट 0.73 से 1.03 प्रतिशत 13 से 25 प्रतिशत

कोलेस्ट्राल 14.75 एमजी प्रति 100 ग्राम 218.12 ग्राम प्रति सौ ग्राम

जानिए एक किसान की स्टोरी जिसने इस बिज़नेस से कमाए लाखो रूपये (Know the story of a farmer who earned lakhs of rupees from this business)

Business idea :ब्रजराज सिंह ने सौ चूजों से की कड़कनाथ पालन की शुरुआत रवाना गांव के ब्रजराज सिंह ने मनोहरपुर फार्म से सौ चूजे लाकर कारोबार शुरू किया है। उन्होंने कहा कि इसकी क्वालिटी और अंडों की मांग देखकर शुरुआत की है। यह मुर्गे वनस्पति जैसे जई, मोरंगा, गोभी के पत्ते खाकर अपना भोजन पूरा कर लेते हैं। इसका प्रोटीन भी बेहतर है। इससे हमें उम्मीद है कि आमदनी बढ़ा सकते हैं। इसक मत्युदर कम है। इसके पालन से नुकसान कम फायदा ज्यादा है।

200 कड़कनाथ मुर्गा पालन का गणित जानिए (Know the maths of 200 Kadaknath chicken farming)

Business idea :दो सौ कड़कनाथ पालन का गणित इस तरह इसकी शुरुआत 225 मुर्गियों और 25 मुर्गों से करनी चाहिए। इसमें प्रतिमाह 2000 अंडे प्राप्त होंगे। इसमें 120 अंडों को चूजे प्राप्त करने के लिए मशीन में रख सकते हैं और बाकी अंडे बेच सकते हैं। 120 अंडों से 100 चूजे निकलने का औसत है। जिन्हें ब्रायलर की तरह पाला जा सकता है।

Business idea
photo by google

Business idea :जानिए आमदनी से लेकर खर्च तक पूरी जानकारी (Know complete information from income to expenditure)

100 चूजे मांस के लिए पालने पर खर्च

1000 रुपये प्रति किलो मीट की बिक्री

54000 रुपये 6 माह दाने का खर्च

4000 रुपये दवाई पर 6 माह में खर्च

700 अन्य खर्च

100 मुर्गों पर आय एक लाख 20 से 25 रुपये प्रति अंडा का रेट

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments