11 साल की उम्र में खरीदे बिटकॉइन, 21 का होते-होते बन गया करोड़पति

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

नई दिल्‍ली. स्विट्जरलैंड में रहने वाले एक कुर्दिश शरणार्थी डेडवेन यूसुफ (Dadvan Yousuf) ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि अगले 10 साल में वह करोड़पति बन जाएगा. लेकिन यूसुफ ने जो सपना कभी लिया ही नहीं था उसे क्रिप्‍टोकरंसी ने (cryptocurrency) सच कर दिखाया. 11 साल की उम्र में यूसुफ ने अपने खिलौने बेचकर बिटकॉइन (Bitcoin) खरीदे थे और सिर्फ 10 साल में मतलब 21 की उम्र में वह स्विट्जरलैंड का पहला सेल्‍फमेड करोड़पति बन गया.

कभी पाई-पाई को मोहताज यूसुफ ने अब अपनी क्रिप्‍टोकरेंसी लॉंच कर दी है. उसके पास वो सबकुछ है जिन्‍हें पाने की ख्‍वाहिश हर युवा रखता है. 11 साल की उम्र में यूसुफ ने जो बिटकॉइन खरीदे थे, वो उसने अमीर होने के लिए नहीं बल्कि अपनी दादी के इलाज के लिए खरीदे थे.

यूसुफ ने ब्रिटिश समाचार पत्र द सन को बताया कि उसके माता-पिता अत्‍यंत गरीब थे. वो स्विट्जरलैंड के Ipsach इलाके में रहते थे. कुछ बच्‍चे खिलौने गली में रख जाते थे. वो उन्‍हें उठा लेता और उनसे खेलता था. कई बार गरीब बच्‍चा समझकर आसपास के लोग खिलौने उपहार में दे देते थे. यूसुफ की दादी उनसे दूर रहती थी और बीमार थी. उसके माता-पिता अक्‍सर बीमारी का जिक्र किया करते और रुपए भेजने की योजना बनाते.

एक दिन यूसुफ ने अपने सारे खिलौने बेच दिए. उसे खिलौनों के बदले 250 Swiss Francs (£200) मिले. यह राशि 20 हजार भारतीय रुपये से थोड़ी सी ज्‍यादा थी. ऐसा उसने अपनी दादी के इलाज के लिए पैसे भेजने के लिए किया. तब उसकी उम्र 11 साल थी. अपनी दादी के पास विदेश में पैसा भेजने के तरीके खोजते वक्‍त ही सबसे पहले उसने बिटकॉइन का नाम सुना.

ONLINE BANKING से आपको क्या क्या लाभ हो रहे हैं क्या आप जानते हैं अगर नहीं जानते तो नीचे देखिए

इसके एक साल बाद यूसुफ ने $13.53 प्रति पीस के हिसाब से 1000 बिटकॉइन खरीदे. 2016 में उसने 16,000 इथेरियम (Ethereum) खरीदे. हालांकि, वह 17 साल की उम्र में ही क्रिप्‍टोकरेंसी से करोड़पति बन चुका था. लेकिन उसे 2020 तक कोई कैश नहीं मिला था. 2020 में उसने क्रिप्‍टोकरेंसी को कैश किया और स्विट्जरलैंड का 21 साल का पहला सेल्‍फ-मेड करोड़पति बन गया.

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.