Monday, January 30, 2023
Homeऑटोमोबाइलऑडी: बंद हो जाएगी ये गाड़ियां, इस कंपनी ने लिया बड़ा फैसला,...

ऑडी: बंद हो जाएगी ये गाड़ियां, इस कंपनी ने लिया बड़ा फैसला, सामने आई नई जानकारी

जर्मनी की लक्जरी कार कंपनी ऑडी 2033 तक केवल इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) पर ध्यान केंद्रित करेगी और आईसीई पर चलने वाली कारों का प्रोडेक्शन बंद करेगी। ऑडी इंडिया के प्रमुख बलबीर ढिल्लन ने ये जानकारी दी।

maruti eeco upgraded know the letest features and mileage | ज्यादा सुरक्षित  हुई Maruti की ये कार, 22 किमी का माइलेज और कीमत 3.61 लाख रूपए | Patrika News
ऑडी

जर्मनी की लक्जरी कार कंपनी ऑडी 2033 तक केवल इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) पर ध्यान केंद्रित करेगी और आईसीई पर चलने वाली कारों का प्रोडेक्शन बंद करेगी। ऑडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लन ने कहा कि कंपनी आईसीई से चलने वाले मौजूदा मॉडलों का प्रोडेक्शन बंद कर देगी और 2033 से केवल ईवी को बेचने के लिए बदलाव शुरू करेगी। ढिल्लन ने स्पष्ट किया कि कंपनी पेट्रोल इंजन से लैस सभी मौजूदा मॉडलों को बनाएगी। इनकी बिक्री 2032 तक की जाएगी और फिर इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर बदलाव होगा।

गाड़ियों पर ऊंचे टैक्स पर कंपनी का बयान

इससे पहले हाल ही में कंपनी की तरफ से इंडियन मार्केट में हो रही परेशानियों को लेकर भी बयान समाने आया था। ऑडी के एक सीनियर ऑफिसर ने अपने बयान में कहा था कि भारत के लग्जरी कार मार्केट में वृद्धि की काफी संभावनाएं हैं, लेकिन इन गाड़ियों पर ऊंचे टैक्स और अनफेवरेबल रेगुलेटरी एनवायरमेंट के कारण यह क्षेत्र ‘दबा’ हुआ है। पैसेंजर व्हीकल की सालाना बिक्री में लग्जरी कारों का हिस्सा दो प्रतिशत से भी कम है। यह सेगमेंट पिछले 10 साल से कमोबेश इसी स्तर पर बना हुआ है।

हमें भारत में काफी उम्मीदें

ऑडी के रिजनल डायरेक्टर (विदेश) अलेक्जेंडर वॉन वाल्डनबर्ग-ड्रेसेल ने कहा था,  ”हमारा इंडियन मार्केट में विश्वास है। हालांकि, जो अपेक्षाएं हमें यहां से थीं वे पूरी नहीं हो सकीं। यह ब्रिक्स देशों का हिस्सा है और इसे दूसरा चीन माना जाता था। हमें अभी भी इस बाजार से काफी उम्मीदें हैं।” 

उन्होंने कहा था, ”भारतीय बाजार से हमने 20 साल पहले जो उम्मीदें लगाई थीं उसमें इससे कुछ ज्यादा समय लगेगा।” उन्होंने कहा कि भारत में करोड़पतियों की संख्या काफी ज्यादा है। उस अनुपात में लग्जरी वाहन का हिस्सा काफी कम है।

भारत कई एशियाई देशों से पीछे

लग्जरी गाड़ियों पर सबसे ज्यादा 28% जीएसटी

वाल्डनबर्ग-ड्रेसेल ने कहा था कि लग्जरी कारों की बिक्री में वृद्धि के मामले में भारत कई एशियाई देशों से भी पीछे है।  उन्होंने कहा, ”मैं पांच साल से भारतीय बाजार के साथ काम कर रहा हूं। मैंने कई अनुमान देखे, लेकिन हकीकत इससे बिल्कुल अलग निकली।”

उन्होंने कहा कि यह नीतियों में लगातार बदलाव और लग्जरी कारों पर लगने वाले ऊंचे टेक्स इस सेगमेंट के विकास में बाधक है।  लग्जरी गाड़ियों पर मौजूदा समय में जीएसटी की सबसे ऊंची 28 प्रतिशत की दर लगती है। इसके अलावा सेडान पर 20 प्रतिशत और एसयूवी पर 22 प्रतिशत के अतिरिक्त सैस लगता है। इस तरह इन वाहनों पर कुल कर करीब 50 प्रतिशत बैठता है। 

Mukesh Ambani and Tata Group – शेयर बाजार से पिछले सप्ताह मुकेश अंबानी और टाटा ग्रुप को हुआ बंपर मुनाफा

Hero Splendor:मार्केट में नए कलर के साथ आने जा रही है हीरो स्प्लेंडर,नया बाइक का नया लुक

Aenanya Pandey, : रूसो ब्रदर्स की पार्टी में इस अंदाज में पहुंची अनन्या पांडे, सामने आई क्यूट तस्वीरें

Lifestyle news: नहाते वक्त अगर आप भी करते हैं ये गलतियां तो हो जाएं सावधान, नहीं तो भविष्य में पड़ सकता है पछताना

निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments