VIDEO वायरल होने के बाद पुलिस ने आलोचना के बाद भड़काऊ बयान देने वालों के खिलाफ FIR दर्ज की ।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

अनोखी आवाज़ :पिछले कुछ दिनों से ‘धर्म संसद’ का जिक्र खबरों में लगातार हो रहा है. पहले हरिद्वार ‘धर्म संसद’ और फिर रायपुर ‘धर्म संसद’. दोनों ही धर्म संसदों धर्म के नाम पर विवादित भाषण दिए गए. जिसके चलते इनमें हिस्सा वाले कई लोग जेल में हैं. ऐसा ही एक ‘धर्म संसद’ कार्यक्रम उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में होना था. फिलहाल इसे स्थगित कर दिया गया है. ये कार्यक्रम 22 और 23 जनवरी को होना था।

आपको बता दें कि यति नरसिंहानंद सरस्वती और जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी हरिद्वार धर्म संसद में दिए भड़काऊ बयानों की वजह से ही गिरफ्तार किए गए थे. यति नरसिंहानंद के ऊपर एक धर्म विशेष की महिलाओं के खिलाफ अपमानजक टिप्पणी करने का भी आरोप है।

आपको बता दें कि यति नरसिंहानंद सरस्वती और जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी हरिद्वार धर्म संसद में दिए भड़काऊ बयानों की वजह से ही गिरफ्तार किए गए थे. यति नरसिंहानंद के ऊपर एक धर्म विशेष की महिलाओं के खिलाफ अपमानजक टिप्पणी करने का भी आरोप है।

क्या हुआ था हरिद्वार धर्म संसद में?

हरिद्वार में पिछले साल 17 से 19 दिसंबर को धर्म संसद का आयोजन किया गया था. ये आयोजन यति नरसिंहानंद की अध्यक्षता में हुआ. इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया. भड़काऊ बयानबाजी की गई. धर्मदास और अन्नपूर्णा भारती समेत कई लोगों ने अल्पसंख्यकों पर आपत्तिजनक भाषण दिए. नरसंहार के नारे लगाए. इन विवादित भाषणों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए इनमें धर्म की रक्षा के लिए शस्त्र उठाने, एक विशेष समुदाय के व्यक्ति को प्रधानमंत्री ना बनने देने और एक विशेष समुदाय की आबादी न बढ़ने देने का जिक्र है।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बहुचर्चित खबरें