क्रेशर की अनुमति देने के बाद ₹45 हजार की मांग की थी,लोकायुक्त का छापा,रंगे हाथों पकड़ा

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ लोकायुक्त की कार्रवाई लगातार जारी है। लोकायुक्त की टीम सूचना मिलते ही और गुप्त रूप से की गई छानबीन के बिनाह पर भ्रष्ट अधिकारियों की नकेल कसने हेतु लगातार छापेमारी कर रही है। इसी क्रम में रायसेन गैरतगंज में एसडीएम के कार्यालय पर लोकायुक्त की टीम ने छापेमारी की।

यह भी देखें- इत्र के अचूक टोटके बना देगा आपको अरबपति और खरबपति, पढ़िए कैसे

लोकायुक्त की टीम ने SDM मनीष जैन के पास 45 हजार रुपये पकड़े। रंगे हाथों चराए एसडीएम इस नगद राशि के बारे में कोई भी संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए। लोकायुक्त टीम ने छापेमारी के बाद जानकारी देते हुए इस बारे में बताया।

यह भी देखें- जानें अपने शहर का हाल- MP में कहां होगी बारिश कहां गिरेंगे ओले

SDM मनीष जैन के बाबू दीपक ने तनवीर पटेल नामक व्यक्ति से रिश्वत के नाम पर यह रकम ली थी।
तनवीर पटेल की क्रेशर की अनुमति देने के एवज में SDM ने ₹45 हजार की रकम मांगी थी। ग्राम अगरिया कला में क्रेशर मशीन की अनुमति लेने गए तनवीर पटेल से SDM मनीष जैन ने रिश्वत के रूप में ₹45000 की मांग की।आपको बता दें कि एसडीएम के क्रियाकलापों पर इससे पहले भी कई तरह के प्रशिक्षण उड़ चुके हैं और वे लगातार शंका के दायरे में थे।

यहां भी देखें-25 रुपये सस्‍ता होगा पेट्रोल, 26 जनवरी से लागू होंगी नई दरें

लगातार मिल रही शिकायतों के बाद लोकायुक्त SDOP संजय शुक्ला और 8 सदस्यीय टीम मौके पर पहुंची और एसडीएम को रंगे हाथों धरा। मामले पर संजय शुक्ला का कहना है कि मामले की पूरी जांच की जा रही है और अभी और भी कहीं सुराग मिलने की उम्मीद है। इस छापेमारी के बाद SDM मनीष जैन की तबियत बिगड़ गई और उन्हें रायसेन जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है ।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *