ADAS: सेफ ड्राइविंग में मदद करती ये टेक्नॉलोजी, क्या आप की कार में है सुविधा

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

कार खरीदने से पहले भारत में इन दिनों कस्टमर एक फीचर पर ज्यादा जोर दे रहा है। ये फीचर है कार सेफ्टी और सुरक्षित ड्राइविंग का फीचर। शायद यही वजह है कि अब लॉन्च हो रही गाड़ियों में भी इस फीचर पर जोर दिया जा रहा है।

ऐसे फीचर्स को एडीएएस टेक्नॉलोजी कहा जाता है। क्या आप जानते हैं कि एडीएएस तकनीक होती क्या है और किस किस लेवल में आपको मिलती है। ये तकनीक आपको सुरक्षित ड्राइविंग मुहैया करवाती है।

Read Also…सावधान: शीतलहर का यलो अलर्ट जारी

क्या है ये टेक्नॉलोजी?

किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में कार पार्क करने जा रहे हों तो कुछ लोग मदद के लिए आ ही जाते हैं। जो हाथों के इशारे से गाड़ी को सही और सुरक्षित पार्क करने में मदद करते हैं। अब मान लीजिए कि यही काम टेक्नॉलोजी को करना है तो कैसे होगा। इस काम के लिए अब कारों में एक कैमरा फिट होता है।

जो बैक करते ही सब कुछ दिखाता है। इसके साथ ही कुछ सेंसर्स भी लगते हैं जो सामने स्क्रीन पर सारी डिटेल बताते हैं। जिनकी मदद से आप कार को सुरक्षित पार्क कर सकते हैं। ऐसी सारी तकनीक जो कार ड्राइविंग को आसान बनाएं उसे एडीएएस कहा जाता है।

एडीएएस के पांच अलग अलग लेवल कार को सुरक्षित ड्राइविंग के काबिल बनाते हैं।पांच लेवल में पार्किंग कैमरा, ऑटोमेटिक गियर शिफ्ट, सेल्फ ड्राइविंग फीचर जैसी चीजें शामिल हैं। जीरो लेवल उसमें एडीएएस का कोई फीचर नहीं होता।लेवल दर लेवल एडीएएस का कंट्रोल बढ़ता है।पहले वल पर ये गाड़ी के कुछ फीचर्स पर कंट्रोल करता है। और हर लेवल पर कंट्रोल बढ़ते जाते हैं।पांचवे लेवल पर ये फीचर सेल्फ ड्राइविंग मोड की फैसिलिटी तक देते हैं।इस तरह एडवांस फीचर्स आपकी कार को और अधिक सुरक्षित बनाने का काम करते हैं।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *