सिंगरौली: जैन की कृपा से सब काम हो रहा है.? उपाध्याय तो बेवजह बदनाम हो रहा है.?

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

पीएम आवास में भारी गड़बड़ झाला, जांच में हो सकता है बड़ा खुलासा 


मुद्दे की बात – नीरज द्विवेदी के साथ 

अनोखी आवाज़, बैढन। नगर पालिक निगम के कारनामों से कौन वाकिफ नही है। अक्सर सुर्खियों में बने रहने वाले ननि के अधिकारी न जाने कब अपनी हरकतों से बाज आएंगे.? इस बार सुर्खियों में आने की वजह है प्रधानमंत्री आवास। यूं तो समान्यतः यह आवास उन गरीब असहायों  के लिए बनाया गया था।जिनके सर के ऊपर छत नही है लेकिन हुआ ठीक इसके विपरीत। जो मकान करीब 2 लाख रुपये नगद अथवा 20 हजार रुपये की किश्तों में मिलना था वह मकान 3 से 5 लाख रुपये तक मे बिके। अब भला गरीब तबके का व्यक्ति इतना पैसा धरती आसमान कहा से लाएगा.?

चर्चा तो यहाँ तक है कि “जैन की कृपा से सब काम हुआ है..? उपाध्याय तो बेवजह बदनाम हुुुआ है .? हलांकि उक्त बातो मेंं कितनी सच्चाई है यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा।

लेकिन इतना तो जरूर है कि पीएम आवास में जमकर  भ्रष्टाचार हुआ है। जानकार बताते है कि ज्यादातर मकानों की चाबी अमीरों के हाथों में है अब यह चाबी अमीरों के हाथों में कैसे पहुची यह आप बखूबी जान गए होंगे। नही जानते होंगे तो एक लाइन में समझ लीजिए गांधी जी की मुस्कान में गजब की ताकत है।

लेकिन कितने चौकाने वाली बात है कि  पीएम  मोदी की  मंशा पर ननि के अधिकारी किस तरह खुलेआम पानी फेर रहे है। और मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि इस बात की जानकारी बखूबी भाजपा के जनप्रतिनिधियों और नेताओं को भी है लेकिन न जाने क्यों सत्ता और विपक्ष दोनों खामोश है। लिहाजा  भ्रष्टाचारियों की चाँदी है। मुद्दे की बात तो यह है कि आबंटित आवासों की कमेटी बना कर जाँच होनी चाहिए और दोषियों पर कार्यवाही होनी चाहिए। लेकिन ऐसा नही होगा क्योकि मासूम गांधी जी  ऊपर सेे लेकर नीचे तक न जाने किसके किसके पास अलमारियों में मुस्कुराते होंगे।

खैर ऐसे ऐसे भ्रष्टाचारियों को एक लाइन में बता दू- भगवान के घर मे देर है अंधेर नही..उसकी लाठी जब चलती तो आवाज़ नही होती लेकिन चोट बराबर लगती है।

लगातार अपडेट पढ़े- सिर्फ अनोखी आवाज़ नीरज द्विवेदी के साथ

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *