यादव ही क्यों बनते हैं सीएम, 20 फीसदी मुसलमानों का क्या होगा:ओवैसी

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में 100 सीटों पर लड़ने का ऐलान करने वाले एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है। ओवैसी ने कहा कि हम तो ऐसी लैला बन गए हैं, जिसका नाम लिए बिना किसी का काम नहीं चलता है। ओवैसी और मुसलमानों का नाम लेकर सब एक-दूसरे को डराते हैं और वोट बटोरने का काम करते हैं।ओवैसी ने ‘एजेंडा आज तक’ कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि यूपी में 19 फीसदी से ज्यादा मुसलमान हैं, लेकिन आज तक उनका कोई सीएम नहीं बन पाया है। ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस, एसपी और बीएसपी जैसी पार्टियों ने हमेशा मुसलमानों के वोट यूपी में लिए हैं, लेकिन उनकी कोई लीडरशिप विकसित नहीं हो पाई है।

AIMIM के लीडर ने कहा कि जाट, कुर्मी और यादव समेत सभी लोगों की लीडरशिप है, लेकिन मुस्लिमों की क्यों नहीं है। यह बड़ा सवाल है। हम इस सवाल का ही जवाब देने का काम कर रहे हैं। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हम सबकी लैला बन चुके हैं। हमारा नाम लिए बिना इनके घरों में चिराग नहीं जलता है। यही नहीं कांग्रेस की लीडरशिप को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि इसके टुकड़े हो जाएंगे।

असदुद्दीन ओवैसी ने सपा सरकार में यादवों को महत्व मिलने और मुसलमानों की उपेक्षा का आरोप लगाया। ओवैसी ने कहा, ’10 पर्सेंट यादव दो-दो बार सीएम बन गए। लेकिन 19 पर्सेंट से ज्यादा मुसलमान हैं, हमारा क्या होगा। क्या मुसलमान बैंड बाजे की पार्टी है कि किसी के लिए भी बाजा बजाएगा। मैं मुसलमानों से कह रहा हूं कि अपनी लीडरशिप तैयार करिए। आज य़ूपी में मुस्लिमों के वोट की कोई ताकत नहीं है। मैं चाहता हूं कि जिस तरह से हर समाज ने अपनी लीडरशिप ने बनाई है, उसी तरह हमें भी तैयार करना है। अब अखिलेश कह रहे हैं कि जाट को डिप्टी सीएम बना देंगे, लेकिन 19 पर्सेंट को क्यों नहीं बनाएंगे।’ 

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *