छत्तीसगढ़ में Omicron के खतरे के बीच उठी स्कूल बंद करने की माँग

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

रायपुरः कोरोना वायरस के ओमीक्रॉन वैरिएंट को लेकर पूरी दुनिया में दहशत का माहौल है. इस बीच छत्तीसगढ़ में भी ओमीक्रॉन वैरिएंट खतरे को देखते हुए स्कूल बंद करने की मांग उठ गई है. खास बात ये है कि ये मांग सरकार के ही एक विधायक ने उठाई है लेकिन सरकार में ही इसका विरोध भी शुरू हो गया है. वहीं भाजपा ने भी मौका लपकते हुए ऐसी बात कही है, जिससे मुद्दे पर राजनीति शुरू हो गई है. 


बता दें कि कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने एक विज्ञप्ति जारी कर राज्य सरकार से मांग की है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया जाना चाहिए. हालांकि विधायक की इस मांग पर विरोध और सियासत दोनों शुरू हो गए हैं. दरअसल कांग्रेस विधायक की इस मांग के विरोध में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का बयान आ गया है. एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने कहा है कि नए वैरिएंट को लेकर इतनी दहशत है तो एक जनप्रतिनिधि को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए. 

राजीव गुप्ता ने कहा कि सरकार को बहुत सोच-विचार के बाद ही इस पर कोई फैसला लेना चाहिए. वहीं विधायक की मांग पर सरकार में भी विरोध शुरू हो गया है. दरअसल सरकार के वरिष्ठ मंत्री रवींद्र चौबे ने विधायक की स्कूल बंद करने की मांग को प्रीमैच्योर बता दिया है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में अभी इतने मामले नहीं बढ़े हैं कि स्कूल बंद किए जाने की नौबत आए. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि विधायक की मांग पर विचार किया जाएगा. 

सियासत शुरू
कांग्रेस विधायक द्वारा स्कूल बंद किए जाने की मांग पर सियासत भी शुरू हो गई है. भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि विधायक दबी आवाज में विरोध क्यों कर रहे हैं, उन्हें मुख्यमंत्री निवास के सामने धरना प्रदर्शन करना चाहिए।

खबर अच्छी लगी हो तो निचे दिए गये बटन को दबाकर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *